exciusive : नेपाल में पकड़े गये चार संदिग्ध, बड़ी हस्तियों का फोन हैक कर विदेशों में साधते थे सम्पर्क

February 3, 2016 4:28 pm0 commentsViews: 166
Share news

नजीर मलिक

belahiya

सिद्धार्थनगर। नेपाल में बीती रात चार युवक गिरफ्तार किये गये हैं। यह चारों एक कथित आतंकवादी फैजल के साथी हैं। वह भारतीय सीमा सोनौली से सटे नेपाल के बेलहिया में अड्डा बना कर बड़ी हस्तियों के मोबाइल फोन हैक करते थे। फिर उन नम्बरों से विदेशों में बात करते थे। चारों से काठमांडू में सुरक्षा एंजेंसियां पूछताछ में लगी हैं।

बताया जाता है कि सोमवार की रात नेपाल की विशेष इंटेलीजेंस एजेंसी सीआइबी ने लोकल पुलिस के साथ बेलहिया टाउन के एक मकान पर छापा मार कर नेपाल के भैरहवा निवासी राजू वैस्नेत व बृजेश जायसवाल, सीमा से सटे भारतीय टाउन सोनौली निवासी जितेन्द्र नायक व आजमगढ़ निवासी खालिद शेख को गिरफ्तार कर लिया।

उनके पास से कई आधुनिक उपकरण व 32-32 सिम वाली दो डिवाइस आदि भी बरामद किया। सीआइबी टीम चारों को लेकर काठमांडू रवाना हो गई, जहां उनसे सघन पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक जांच में उनके अंतंकियों से सम्बंध की बात सामने आने की खबरें हैं।
नेपाल पुलिस के मुताबिक पकउे गये चारों युवकों का सम्बंध आजमगढ़ के कथित संदिग्ध आतंकी फैजल से था। फैजल ही इस गैंग का संरक्षक था। वह खुद सोनौली में किराये के मकान में रह रहा था। जिसे घटना के बाद गिर्तार किया गया है।

भैरहवा पुलिस के मुताबिक चारों युवक नेपाल व भारत के बडी हस्तियों के मोबाइल नम्बर को हैक कर अपनी डिवाइस के माध्यम से विदेशों में बात कराते थे। डिवाइस तरह की है जिसके माध्यम से फोन करने पर उसके नम्बर स्क्रीन पर नहीं आते थे। बताया जाता है कि उनके द्धारा हैक किये जाने वाले नम्बरों में दोनो देषों के कई अफसरों, नेताओं के नम्बर भी शामिल हैं।

काठमांडू से मिली जानकारी के मुताबिक इन लोगों ने सैकड़ों फोन पाकिस्तान के अलावा खाड़ी देशों में किये हैं। सीआईबी टीम विदेश के उन सारे नम्बरों की जानकारी ले रही है जिन पर फोन किये गये थे। चंूकि इनको संरक्षण देने वाला फैजल पुलिस की नजर में स्वयं संदिग्ध आतंकी है, इसलिए नेपाल पुलिस की नजर में इसके बड़े आतंकी नेटवर्क की संभावनाएं हो सकती हैं।

नेपाल पुलिस के मुताबिक विदेशी नम्बरों की शिनाख्त होते ही पूरा सच सामने आयेगा और पता चलेगा कि अगर विदेश में बैठे भारत विरोधी तत्वों से बात हुई है अथवा नहीं। पुलिस के एक जिम्मेदार सूत्र के मुताबिक पकड़ गये लोगों की विदेश में कुछ संदिग्ध लोगों से कई बार बातचीत की पुष्टि हुई है। लेकिन पूरा विवरण सारे नम्बरों की जानकारी मिलने के बाद ही हो सकेगा।

इस बारे में जिला रूपनदेही, नेपाल के डीएसपी रामेश्वर कार्की ने बताया कि इस बारे में अधिक बता पाना संभव नहीं है। चारों संदिग्धों को नेपाल की इंटेलीजेंस टीम सीआइबी काठमांडू ले गई है। जल्द ही टीम पूरी साजिश का खुलासा कर देगी।

(1)

Leave a Reply


error: Content is protected !!