ऐसा कोई सगा नहीं, जिसे स्वास्थ्य विभाग ने ठगा नहीं

August 26, 2015 12:56 pm0 commentsViews: 79
Share news

संजीव श्रीवास्तव

100_1465

“आम तौर पर लोग गैरों को ठगते हैं, लेकिन सिद्धार्थनगर का स्वास्थ्य विभाग बिजली बिल के नाम पर अपने ही कर्मचारियों को ठग रहा है। जिला अस्पताल के आवासीय परिसर में बिजली बिल के नाम पर अस्पताल कर्मियों से प्रतिमाह 1 हज़ार और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों से 2 सौ रूपया प्रतिमाह वसूल जा रहा है। इससे अस्पताल कर्मियों में भारी गुस्सा है”

जिला अस्पताल में वर्षों पूर्व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए आवास बनाये गये थे, मगर शुरुआती दौर से ही इनमें आधे से अधिक आवासों पर जिला अस्पताल में तैनात कर्मियों के अलावा सीएमओ कार्यालय व ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर तैनात कर्मियों ने कब्जा जमा रखा है।

इन बाहरी कर्मियों से विद्युत के नाम पर सिर्फ दो सौ रुपया चार्ज लिया जाता है, जबकि अस्पताल कर्मियों से इस मद में प्रति माह एक हजार रुपये की कटौती की जाती है। विभाग की इस मनमानी से अब अस्पताल कर्मियों का गुस्सा फूटने के कगार पर है। डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसियेशन के मंत्री गोविंद ओझा ने कहा है कि अस्पताल कर्मियों से हो रही लूट अफसरों की तानाशाही का परिणाम है।

ओझा ने कहा कि इस मसले को लेकर एसोसियेशन जल्द ही सीएमओ से मिलेगा और उनसे इस पर रोक लगाने की मांग करेगा। वहीं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा ओ पी सिंह का कहना है कि यह मामला संज्ञान में है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी से वार्ता भी हो चुकी है। जल्द ही इसका निदान हो जायेेगा।

(6)

Tags:

Leave a Reply


error: Content is protected !!