पांच करोड़ की मूर्तियों के साथ तीन दबोचे गये, नेपाल भागने के फिराक में थे मूर्ति चोर

October 29, 2015 4:35 pm0 commentsViews: 361
Share news

नजीर मलिक

बरामद मूर्तियों के साथ एसपी अजय कुमार साहनी व कथित चोरों के साथ पुलिस टीम

बरामद मूर्तियों के साथ एसपी अजय कुमार साहनी व कथित चोरों के साथ पुलिस टीम

सिद्धार्थनगर जिले के ढेबरुआ थाने की पुलिस ने एसएसबी के सहयोग से तीन मूर्तिचोरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से अष्टधातु की नौ मूतियां बरामद की हैं, जिनकी कीमत पांच करोड़ आंकी जा रही है। गौरतलब है कि मूर्तियां रात में चुराई गईं और पुलिस ने सुबह होते ही उन्हें दबोच लिया।

पकड़े गये चोरों में बढ़नी कस्बे के कल्लन डिहवा का रहने वाला भोला कुर्मी, के अलावा अजय उर्फ छोटू कनौजिया साकिन डुमरी थाना पचपेड़वा जिला बलरामपुर और नेपाल के कृष्णानगर का जीशान शाह शामिल हैं। पुलिस ने इनके पास से तीन बड़ी और 6 छोटी मूर्तियां बरामद की है।

खबर है कि उन्होंने रात में थाना क्षेत्र के हृदयनगर स्थित बाबा घनश्याम दास की कुटी से मूर्तियां चुराई थीं। पुलिस को इस मामले की भनक पहले से थी, लिहाजा घटना के तत्काल बाद उसने एसएसबी जवानों के सहयोग से तीनों को गुरुवार की सुबह ही दबोच लिया।

आज दिन में तीन बजे पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने प्रेसवार्ता में बताया कि इन मूर्तियों की कीमत तकरीबन पांच करोड़ आंकी जा रही है। उन्होंने बताया कि यह कई सौ साल पुरानी हैं। इनमें राम, सीता, लक्ष्मण, शिव, हनुमान, सूर्य की एक-एक, तथा विष्णु जी की तीन मूर्तियां शामिल हैं।

पूरी कार्रवाई में ढेबरुआ थानाध्यक्ष इन्द्रजीत यादव, बढ़नी चौकी प्रभारी प्रदीप कुमार सिंह, एसएसबी के उप निरीक्षक गोबिंद लाल की भूमिका उल्लेखनीय रही।  तीनों को आईपीसी की धारा 457, 380, 411 व 413 के तहत जेल भेज दिया गया है। एसपी के मुताबिक उन पर एनएसए भी लगाया जायेगा।

गौर तलब है कि पकड़े गये तीनों चोरों में भोला कुर्मी इससे पहले भी ब्लू फिल्मों की तस्करी के आरोप में जेल जा चुका है। तीनों इन मूर्तियों को नेपाल ले जाने की फिराक में थे। नेपाल के काठमांडू और पोखरा में विदेशी इन्हें मुंहमांगी कीमत पर खरीदने के लिए तैयार रहते हैं।

(60)

Tags:

Leave a Reply


error: Content is protected !!