रमजान अली के घर अनोखी चिड़िया के बच्चों का जन्म, गरुण होने की संभावना, वन विभाग हैरत में

November 16, 2015 7:59 AM0 commentsViews: 800
Share news

नजीर मलिक

रमजान के घर पाया गया गरुण पक्षी का बच्चा

रमजान के घर पाया गया गरुण पक्षी का बच्चा

सिद्धार्थनगर जिले के पथरा थना क्षेत्र के बरहपुर गांव में रमजान अली के घर किसी अनोखी चिड़िया के बच्चे पाये गये हैं। लोगो का अनुमान है कि वह गरुण नामक चिड़िया के बच्चे हैं। फिलहाल बच्चों को वन विभाग की टीम अपने साथ ले गई हैं। टीम खुद उन बच्चों को देख कर हैरान है।

रमजान अली के घर में एक बंद कमरे में राषनन पानी कबाड़ आदि रखा जाता था। उस कमरे से कई बार किसी सांप के फुफकार की आवाज सुनाई पड़ती थी। कल रविवार को कुछ लोगों ने मिल कर कमरे को खोला। वहां सांप तो नहीं मिला, किसी चिडिया के पांच बच्चे जरूर मिले।साथ में एक अंडा भी पाया गया।

सफेद रंग के तीनों बच्चे अनोखे हैं। ऐसे पक्षी इस इलाके में कभी नहीं देखे गये।उनकी तीखी और नुकीली चोंच देख कर लोगों ने उसे गरुण पक्षी का बच्चा मान लिया, लेकिन पक्षी विज्ञानी कहते हैं कि गरुण कभी घर में अंडे नहीं देता। बहरहाल गरुण की खबर से रमजान के घर श्रद्धालुओं की भीड़ लग गई। लोग उसे भगवान श्णिु का वाहन मानने लगे।

खबर पाकर बांसी के फारेस्ट गार्ड विजय कुमार ने टीम के साथ पहुंच कर बच्चो को दुर्लभ कह कर अपने कब्जे में ले लिया। फिलहाल टीम अभी उसकी प्रजाति बता पाने में विफल है। इन अनोखे चूजों को लेकर इलाके में बहुत चर्चा है। वन विभाग इन बच्चों को देख कर खुद हैरत में है।

क्या है गरुण का इतिहास

गरुण नामक पक्षी का पुराणों में बहुत महत्व है। यह गिद्ध प्रजाति का बा आकार है। पुराणों में इसे भगवान विष्णु के वाहन की संज्ञा दी गई हैं रामायण मे जिस जटायु द्धारा सीता जी को बचाने केलिए रावण से युद्ध का हवाला मिलता है, वह भी इसी प्रजाति का था। इसलिए हिंदू समाज में इस पक्षी को सम्मान दिया जाता है।

Leave a Reply