गोरखपुर एटीएम कांड का मास्टर माइंड सिद्धार्थनगर का निकला, गिरफ्तारी के लिए दबिश जारी

September 22, 2023 12:25 PM9 commentsViews: 1585
Share news

नजीर मलिक

गोरखपुर एम्स इलाके के नंदानगर में एटीएम खोलकर रुपये निकालने के  मामले सिद्धार्थनगर के एक आरोपी का नाम मास्टर माइंड के रूप में सामने आया है। नंदानगर, थने की पलिस ने आरोपी की तलाश में जगहों पर दबिश दी, मगर आरोपी हाथ न लगा।  गोरखपुर पुलिस का दावा है कि उसे जल्द ही उसे पकड़ लिया जाएगा।  एटीएम मशीन खोल कर रुपये निकालने की यह घटना पिछले सप्ताह सामने आई थी।

क्या है पूरा मामला?

जानकारी के मुताबिक, एसबीआई में कैश डालने वाली संस्था एमएस सिक्योर वॉल्यूस इंडिया लिमिटेड राप्ती नगर फेज चार के प्रबंधक शिवानंदन सिंह ने केस दर्ज कराया है। उनका कहना है कि संस्था सरकारी एवं प्राइवेट बैंकों के एटीएम में रुपये भरने का कार्य करती है। नंदानगर के एसबीआई एटीएम में रुपये डाले गए थे। बैंक में रुपये न निकलने की कई शिकायतें आ रही थी। इसके बाद बैंक द्वारा वीडियो फुटेज की जांच की गई तो पाया गया कि छह अगस्त की शाम 4.50 बजे से आठ बजे के बीच में संदिग्ध व्यक्ति द्वारा मशीन खोलकर रुपयों की निकासी की गई है।

आरोपी का नाम क्यों गुप्त रख रही पुलिस?

बताया जा रहा है कि सीसीटीवी फुटेज की बारीकी से जांच की गई तो एक आदमी एटीएम खोल कर मशीन मे रखे रुपये निकालता नजर आया। वह आदमी उसी संस्था का पूर्व कर्मचारी था जो पहले एटीएम में रुपये डालने का काम करता था और उसे मशीन खोलने की जानकारी थी।  जब छानबीन की गई तो वह पूर्व एटीएम कर्मी सिद्धार्थनगर का निकला। गोरख्रपुर के नंदानगर की पुलिस अभी एहतियात के कारण अभियुक्त का नाम पता गुप्त रख रही है।

किस गलती से खुला भेद?

बता दें कि पूर्व एटीम  कर्मी ने  मशीन खेल कर रुपये तो निकाललिये, मगर उसे बंद करते समय कुछ त्रुटि हुई जिसके कारण एटीएम से रुपये निकलने बंद हो गये। इसकी शिकायत किये जाने पर हुई जांच  में सारे मामले का भंडाफोड़ हुअ तब मास्टर माइंट के रूप में सिद्धार्थनगर के पूर्व एटीएम कर्मी का नाम सामने आया। इस घटना में कुलकितने रुपयेनिकाले गये, इसकी भी छानबीन हो रही है।

 क्या है एसओ का दावा?

एम्स थाना पुलिस ने इसी शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर जांच की तो सामने आया है कि सिद्धार्थनगर का रहने वाला एक युवक संस्था में कर्मचारी रह चुका है और उसने ही वारदात की है। एसओ मदन मोहन मिश्रा ने बताया कि आरोपी की तलाश की जा रही है, जल्द ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Leave a Reply