प्रधानों के धरने में शोहरतगढ़ विधायक पर लगाये गए गंभीर आरोप, सामूहिक इस्तीफे की धमकी

October 1, 2022 1:01 PM0 commentsViews: 741
Share news

नजीर मलिक

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। स्थानीय कलक्ट्रेट परिसर में ग्राम राष्ट्रीय पंचायती राज प्रधान संगठन द्वारा आयोजित एक दिवसीय धरने में शोहरतगढ़  के विधायक पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी को 21 सूत्रीय ज्ञापन देकर समास्याओं के निदान की मांग की गई। संगठन के जिलाध्यक्ष ने साफ एलान किया कि यदि उनकी मांग नहीं मानी गई तो ब्लाक के  सारे प्रधान सामूहिक इस्तीफा दे देंगे।

यहां कलक्ट्रेट परिसर में धरने के दौरान वक्ताओं ने अपनी समस्याओं पर विस्तार से प्रकाश डाला और आरोप लगाया कि विधानसभा क्षेत्र के सारे प्रधानों का राजनीतिक उत्पीड़न किया जा रहा है। अधिकारियों पर दबाव डाल कर उनका भुगतान होने में अड़ंगा लगाया जा रहा है। और कहा जा रहा है कि कमीशन के बिना कोई काम संभव न हो पायेगा।

बाद में मौके पर हुई प्रेस वार्ता में संगठन के जिलाध्यक्ष पवन मिश्रा ने कहा कि भाजपा के सहयोगी अपना दल के स्थानीय विधायक शोहरतगढ़ क्षेत्र की ग्राम सभाओं का विकास सम्बंधी एस्टीमेट न बनने के लिए अधिकारियों पर दबाव डालते है। यदि कोई काम हुआ भी तो उसके पेमेंट में अड़गा लगाते है। उनका आरोप है कि यह सब कमीशन के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि जिला प्रशासन ने उनकी बात नहीं मानी तो सभी ग्राम प्रधान प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिल कर सामूहिक इस्तीफा सौपने को बाध्य होंगे।

इससे पूर्व प्रधानों  ने 21 समस्याओं के निदान के लिए डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्रक भेजा। जिसमें पंचायत भवन, अमृत सरोवर एवं अन्य निर्माण कार्यों में 60:40 के अनुपात को जिला स्तर पर मिलान आदि करने की मांग की गई। प्रधानों ने ग्राम सचिवों के स्थानांतरण ब्लॉक स्तर पर करने समेत ग्राम पंचायतों के वित्तीय एवं प्रशासनिक अधिकार बढ़ाने की मांग की। इस दौरान  संगठन के मंडल स्तरीय नेता ताकीब रिजवी  समेत अखिलेश पांडेय, लालकुमार राय, विरेंद्र यादव, संजय, उमेश मौजूद रहे।

Leave a Reply