विकास के नाम पर लूट की पोल खुली, कई पूर्व प्रधानों व सचिवों पर मकदमा दर्ज, गांवों में हड़कम्प

January 31, 2023 1:15 PM0 commentsViews: 523
Share news

नजीर मलिक

ग्राम्य विकस के कई मामलों में लाखों रूपये का गबन करने के मामले का पर्दाफाश हुआ है। कई लोगों के नाम से व्यक्तिगत शौचालय की धनराशि खुद के खाते में आहरित करने और ग्राम निधि के धन का गबन करने के मामले में एक दर्जन पूर्व प्रधानों और ग्राम सचिवों पर केस दर्ज हुआ है। वहीं सरकारी धन के गबन करने के मामले में चार अन्य गांवों के पूर्व प्रधानों व कर्मियों पर केस दर्ज कराने के आदेश डीपीआरओ ने दिया है।जिला पंचायतराज अधिकारी के इस कदम से जिम्मेदारों मेंहड़कम्प मच गया हैa

विकास खंड नौगढ़

मिली जानकारी के अनुसार उसका ब्लॉक के ग्राम पंचायत छितरापार में वर्ष 2019-20 के बीच आवंटित व्यक्तिगत शौचालयों का बिना निर्माण कराए धनराशि भुगतान करने की शिकायत ग्रामीणों ने की थी। डीएम की तरफ से गठित टीम की जांच में खुलासा हुआ कि 236 व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण नहीं हुआ और धनराशि निकाल ली गई।

जांच में सामने आया कि शौचालय की धनराशि लाभार्थी के खाते में भेजने की जगह तत्कालीन प्रधान ओमप्रकाश राय एवं सचिव विजय पाल ने कई फर्मों के नाम किश्तों में भुगतान किया है। यहां तक कि ग्राम प्रधान ने खुद के खाते में भी शौचालय की धनराशि भुगतान करा लिया।
जांच में ग्राम छितरापार में शौचालय निर्माण में अनियमितता के मामले में पूर्व प्रधान एवं सचिव पर 17.04 लाख रुपये गबन की पुष्टि हुई। डीएम ने पूर्व प्रधान व सचिव से गबन की धनराशि का 50-50 प्रतिशत वसूली का आदेश भी दिया। इस मामले में एडीओ पंचायत संजय पांडेय की तहरीर पर उसका थाने की पुलिस केस दर्जकर छानबीन में जुट गई है।

खुनियांव ब्लाक

वहीं, खुनियांव ब्लॉक के ग्राम पंचायत नागचौरी में वर्ष 2018 में ग्राम निधि की 4.09 लाख रुपये धनराशि गबन करने का खुलासा हुआ है। एडीओ पंचायत खुनियांव जितेंद्र त्रिपाठी की तहरीर पर मिश्रौलिया पुलिस ने पूर्व प्रधान उर्मिला पांडेय और तत्कालीन सचिव मोहम्मद मुस्तकीम के विरूद्ध केस दर्जकर छानबीन कर रही है।

ठीक इसी प्रकार मिठवल ब्लॉक के ग्राम पंचायत पिपरपतिया और बर्डपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत बरगदी में भी व्यक्तिगत शौचालय निर्माण में गबन का खेल सामने आया है। मामले में डीएम ने वसूली का आदेश दिया है। बर्डपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत बरगदी में 48 व्यक्तिगत शौचालय की धनराशि गबन कर ली गई है।
जांच टीम की रिपोर्ट में यहां शौचालय की धनराशि लाभार्थियों के खाते में नहीं भेजी गई और 5.76 लाख रुपये गबन कर ली गई। अब डीपीआरओ ने एडीओ पंचायत बर्डपुर को पूर्व प्रधान राजेश एवं तत्कालीन सचिव भानू प्रताप सिंह पर केस दर्ज कराने का निर्देश दिया है। इसी तरह मिठवल ब्लॉक के ग्राम पंचायत पिपरपतिया 26 शौचालयों की 3.12 लाख रुपये गबन करने के मामले में पूर्व प्रधान राजेश कुमार व सचिव कृष्ण कुमार शुक्ल पर केस दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है।

विकास खंड बढ़नी
इसी क्रम में बढ़नी ब्लॉक के ग्राम पंचायत महादेव खुर्द गांव में हुई जांच में वर्ष 2018-19 में मनरेगा से तालाब खुदाई कार्य में अनियमितता कर 2.11 लाख रुपये गबन की पुष्टि हुई है। डीएम ने मामले में दोषी पाए गए पूर्व प्रधान शोहराब अली, तकनीकी सहायक, कनिष्ट लिपिक, एपीओ और कंप्यूटर सहायक से गबन धनराशि वसूली करने का आदेश दिया है। डीपीआरओ ने एडीओ पंचायत बढ़नी को संबंधित के विरूद्ध केस दर्ज कराने का निर्देश दिया है।
भनवापुर ब्लॉक के ग्राम डेंगहाजोत कस्तुरी में हुई जांच में 50 मीटर नाली निर्माण में 4.32 लाख रुपये गबन करने की पुष्टि हुई है। डीएम ने मामले में पूर्व प्रधान अवधराम, सचिव श्याम बहादुर व तकनीकी सहायक से धनराशि वसूली करने और डीपीआरओ ने उन पर केस दर्ज कराने का निर्देश एडीओ पंचायत को दिया है।

 

Leave a Reply