हियुवा नेता सुभाष की सलामती के लिए मुसलमानों नेे मांगी दुआएं, पटाखेबाजी की निंदा

December 19, 2020 1:52 PM0 commentsViews: 892
Share news

निज़ाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। गंभी रूप से घायल हियुवा नेता व नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुभाष गुप्ता की सेहत के लिए शोहरतगढ़ कस्बे के अकलियतों ने जहां मस्जिद में नमाज अदा कर दुआएं मागीं, वहीं उनके अपनों में से कुछ लोगों ने पटाखे फोड़ कर अपनी खुशी का इजहार किया। यह शहर में चर्चा और चिंता दोनों का विषय बना हुआ है। बता दें कि पिछले सप्ताह       सुभाष गुप्ता का परिवार के कुछ लोगों के साथ भीषण रोड एक्सीडेंट हुआ था, जिसमें दो की मौत हो गई थ और वे स्वयं घायल हो गये थे।

बताते है कि इसी क्रम में गत दिवस कस्बा स्थित जामा मस्जिद में दोपहर  की नमाज़ के बाद  सुभाष गुप्ता व उनके परिवार के लोगों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए मौलाना आरिफ अब्दुल्लाह की कयादत में नमाजियों ने  दुआएं मांगी। नमाज के दौरान हिन्दू युवा वाहिनी के नेता के लिए दुआ मांगना कहाँ तक न्यायोचित है इस संबंध में पूछने पर मस्जिद कमेटी के   सदर अल्ताफ हुसैन व कमेटी प्रमुख नवाब खान ने कहा कि सुभाष गुप्ता भले ही किसी पार्टी विशेष के नेता हों लेकिन उनकी सरपरस्ती पूरे कस्बे के लोगों पर है।

 पिछले चुनाव से ही गुप्ता जी की सोच में हम लोगों ने बहुत बदलाव महसूस किया है। पहले वह हिन्दू हक की बात करते थे, लेकिन उनमें मुसलमान और उनके अधिकारों के प्रति समर्थन कई एक मौकों पर देखने को मिला है। इस बारे में सभासद बाबूजी का कहना है कि सुभाष गुप्ता इसी कस्बे में पैदा हुए हैं, हमारे अगुवा हैं। उनके लिए दुआ करना उनके स्वास्थ्य लाभ की कामना करना हमारा फ़र्ज़ है मैंने भी नमाज में उनके लिए दुआ की है।

इस सम्बंध में मस्जिद के इमाम ने कहा कि सबका मालिक एक ही है। जब व्यक्ति धर्म को सही रूप में जान जाता है तो वह कोई सवाल नहीं पूछता है। मौलाना आरिफ अब्दुल्लाह के अनुसार  धर्म बना है लोगों के कल्याण के लिए। इसलिए हमारा फर्ज है परेशान हाल के लिए दुआ करना, जो हमने आज किया। कस्बे के वरिष्ठ डॉक्टर डॉ एच. आर. अंसारी का कहना है परिवार के दुख की घड़ी में हम सब परिवार के साथ हैं। सुभाष गुप्ता नगर का बेटा है उसके लिए दुआ करना हमारा फर्ज है।  

वहीं दूसरी ओर घटना वाले दिन सुभाष गुप्ता के कुछ  करीबी विरोधियों द्वारा पटाखे फोड़े जाने को लेकर नगर  में तीखी बहस चल रही है। लोग इस कृत्य को गैरइंसानी और संवेदनहीनता बता रहे हैं।

इस संबंध में वर्तमान सभासद व समाजवादी पार्टी नगर अध्यक्ष संजीव जायसवाल ने पटाखे फोड़े जाने को लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया और कहा, किसी तरह की असहमति का मतलब किसी के मरने पर तमाशा करना नहीं होता। उनका कहना था कि  दुख की इस घड़ी में मुस्लिम समाज द्वारा सुभाष गुप्ता व उनके परिवार के प्रति समाज ने बेमिसाल उदाहरण पेश किया है। शोहरतगढ़ की जनता को इसको सदैव याद रखा जाना चाहिये।

Leave a Reply