नमक और तेल की अधिकता वाले भोजन हृदय को पहुँचाते है नुकसान – डॉ पी के वर्मा

September 30, 2019 1:38 pm0 commentsViews: 236
Share news

निज़ाम अंसारी

शोहरतगढ़ सिद्धार्थनग। आज विश्व हृदय दिवस है और आम औऱ खास आदमी को इससे कुछ लेना देना नहीं व्हाट्सएप्प , फेसबुक , ट्वीटर और इंस्टाग्राम या इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया अगर न बताए तो उसे कुछ नहीं पता होता है वह अपने गाँव शहर में रहते हुवे भी उसके आस पास हो रही अच्छी बुरी बातों का ज्ञान नहीं हो पता हो पाता है ।

आपकी इसी व्यस्तता को देखते हुवे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शोहरतगढ़ पर एक गोष्ठी का आयोजन कर लोगों को स्वास्थ्य परिचर्चा कर आम जनता को हृदय की बीमारी के प्रति जागरूक किया गया। गोष्टी को मुख्यरूप से चिकित्सा अधीक्षक ने लोगों को हृदय संबंधी बीमारियों औऱ उसके बचाव के बारे में बताया गया। उन्होंने कहा कि हृदय रोगों की वजह से हर साल पूरी दुनिया में लाखों लोगों की मौत होती है. दिल से जुड़ी बीमारियों का शिकार न सिर्फ बुजुर्ग बल्कि युवा भी तेजी से हो रहे हैं. लोगों का बदलता लाइफस्टाइल इसका कारण हो सकता है. हमारी फीजिकल एक्टिविटी जीरो हो चुकी है और खान-पान में जंक फूड पहली पसंद बन गया है।

हार्ट अटैक से सुरक्षित रहने का सबसे बेहतरीन विकल्प एक्सरसाइज है. रोजाना एक्सरसाइज करने से दिल की बीमारी का खतरा दूर हो जाता है. इसलिए रोजाना कम से कम 15 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें. चाहें तो वॉक भी कर सकते हैं. वॉक करने से दिल स्वस्थ रहता है.जंक फूड में तेल की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो दिल को बहुत नुकसान पहुंचाता है. अगर आप खुद को दिल की बीमारी से दूर रखना चाहते हैं तो ऑयली चीजों के सेवन से बचें।

हार्ट अटैक का एक मुख्य कारण डिप्रेशन या स्ट्रेस भी हो सकता है. खुद को तनाव से दूर रखने के लिए मेडिटेशन कर सकते हैं. मेडिटेशन करने से दिमाग को शांति मिलती है और हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है। अगर आप दिल की बीमारी से दूर रहना चाहते हैं तो अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने की कोशिश करें. दरअसल, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को दिल की बीमारी होने का खतरा अधिक होता है।

बचाव – मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है. इससे  सिर्फ आंखों को ही नहीं बल्कि दिल को भी कई तरह से फायदा पहुंचता है. हफ्ते में एक बार मछली खाने से हार्ट अटैक होने का खतरा बेहद कम हो जाता है. इसलिए अपनी डाइट में मछली जरूर शामिल करें या ओमेगा 3 कैप्सूल या कोई ऐसा पेय पदार्थ जिसमें ओमेगा 3 की भरपूर मात्रा पाई जाती हो। गोष्टी में आये हुवे लोगों के हृदय संबंधी जांच की गई। इस दौरान डॉ हिमांशु सिंह , डॉ प्रवीण कुमार , गंगाधर द्विवेदी , सतीश श्रीवास्तव , सुरेंद्र पाल , स्टाफ नर्स मधु सुमेदा , कल्पना गुप्ता , आशा दुर्गावती व शांति आदि सहित क्षेत्रीय लोगों की उपस्थिति रही।

 

 

 

(155)

Leave a Reply


error: Content is protected !!