हिना की मौत पर लीपापोती करने की साजिश, बालगृह का प्रबंधतंत्र संदेह के घेरे में, जांच के आदेश

December 10, 2017 1:21 pm0 commentsViews: 191
Share news

अजीत सिंह

डुमरियागंज, सिद्धार्थनगर। भवानीगंज थाने के ग्राम बयारा स्थित बालिका बालगृह आश्रम  में हिना की मौत का मामला गहराता जा रह है। वहां एक पूर्व कर्मचारी इसे कत्ल की संज्ञा दे रहा है,  वहीं प्रबंधन का कहना है  कि उसकी मौत सामान्य हालत में हुई थी, जबकि  अफसरों का कहना है कि प्रबंधन ने इतनी बड़ी घटना की उन्हें जानकारी तक नहीं दी।  इस प्रकरण में बालगृह का प्रबंधतंत्र पूरी तरह से संदेह के घेरे में है। इससे पहले भी दी बार वहां युवतियों के उत्पीड़न का मामला सामने आ चुका है। फिलहाल मामले की जांच के आदेश दे दिये गये हैं।

बता दें कि देवरिया के बालगृह से बयारा बालगृह आश्रम में भेजी गई
बालिका हिना 10 दिनों से गायब है। अधिकारी भी कुछ भी कहने से कन्नी काट रहे
है। संस्था के पूर्व कर्मचारी ने बालिका की हत्या कर लाश गायब करने का
आरोप लगाया है। मामले को सीएम से लगायत डीएम के संज्ञान में डाला है।
प्रशासन ने जांच शुरू कर दी है।
सूत्रों की माने तो 10 दिन पहले बालिका बालगृह से नाबालिग बालिका गायब
है। बालिका का नाम हिना खान पुत्री सगीर अहमद है। 10 दिसंबर 2015 को
देवरिया स्थित बालगृह से स्थानांतरित कर हिना को बयारा भेजा गया था। उसके
बाद से वह यहीं रह रही थी। सूत्रों की मानें तो 30 नवंबर 2017 को अचानक
वह गायब हो गई। इसकी जानकारी पुलिस को भी नहीं दिया गया। जानकारी होने पर
बालगृह के पूर्व कर्मचारी भगवान सिंह ने अधिकारियों के संज्ञान में डाला। चर्चा है कि

हिना का वहां पर उत्पीड़न होता था। शारीरिक शोषण की कहानियां भी वहीं तैर रही हैं।

आरोप हैकि हिना की हत्या करने के बाद लाश को गायब कर दिया है। वहीं
बालगृह के कर्मचारियों का कहना है कि 30 नवंबर को हिना की तबियत अचानक
खराब हो गई थी। आनन-फानन में इलाज के लिए बेंवा सीएचसी पहुंचाया गया।
वहीं डयूटी पर तैनात डा. अशोक गुप्ता ने बताया कि जब हिना को अस्पताल
लाया गया था, वह बेहोशी के हालात में थी। गंभीर स्थित देख बस्ती जिला
अस्पताल रेफर कर दिया गया। बालगृह के प्रबंधक रामपुजारी ने बताया कि हिना
के मौत की सूचना तत्काल डीपीओ सिद्वार्थनगर को दे दी गई थी। लाश का
पोस्टमार्टम कराने के बाद एक संस्था के माध्यम से दफना दिया गया।

जिला प्रोबेशन अधिकारी सतीषचंद्र ने कहा कि घटना वाले दिन प्रबंधक ने उन्हें
सूचना नहीं दी थी। शुक्रवार को सूचना मिली। बालगृह से पोस्टमार्टम
रिपोर्ट मांगी गई है। विभाग मामले की जांच करेगा। इस संबंध में एसओ
भवानीगंज प्रदीप कुमार सिंह ने कहा कि बालगृह की एक बालिका की मौत की
घटना की जानकारी उन्हें शुक्रवार को मिली थी।

बालगृह के प्रबंधक या किसी कर्मचारी ने उन्हें सूचना नहीं दी थी। क्षेत्रीय व्यक्ति ने घटना की
जानकारी दी है। इसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रोबेशन
अधिकारी व एसडीएम को उन्होंने सूचना दिया। दोनों अधिकारियों ने घटना के
संबध में अनभिज्ञता जताई थी।

 

 

(381)

Leave a Reply


error: Content is protected !!