मुस्लिम युवक, हिंदू लड़की की शादी पुलिस ने रोका, मुकदमा दर्ज, ‘लव-जिहाद’ का आरोप

June 16, 2023 1:33 PM0 commentsViews: 1467
Share news

प्रेमी बशीर अहमद शोहरतगढ़ का और लड़की छत्तीसगढ़ की, दोनों बालिग, ल़ड़की फिलहाल पुलिस संरक्षण में, कस्बे में पुलिस सतर्क

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। कस्बा एवं थाना शोहरतगढ़ निवासी बशीर नामक युवक छत्तीसगढ़ की एक लड़की से प्यार करता था। लड़की दूसरे धर्म की थी। एक सप्ताह पूर्व लड़की बशीर के साथ भाग कर शोहतगढ़ आ गई। दोनों कोर्ट मैरिज की तैयारी करने लगे।  तभी इस बात का खुलाशा हो गया कि दोनों प्रेमी प्रेमिका अलग अलग धर्म के हैं। बस इसकी शिकायत पुलिस को दी गई। पुलिस दोनों को अपने साथ थाने ले गई। इस बीच लड़की के सम्प्रदाय वालों ने कहा है कि दरअसल बशीर  ने हिन्दू बनकर फेसबुक व ट्विटर के माध्यम से संपर्क कर छत्तीसगढ़ निवासी एक युवती को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। दो सप्ताह पहले उसे भगा ले आया था। इसके बाद उससे निकाह की तैयारी कर रहा था। मामला लोगों के संज्ञान में आने के बाद लोग आक्रोशित हो गये इसके बाद पुलिस मुकदमा दर्ज कर छानबीन में जुट गई है।

क्या नाम बदल कर किया प्यार का नाटक?

क्षेत्र के एक कस्बे के निवासी व्यक्ति ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि कस्बे के एक मुस्लिम युवक बशीर ने सोशल साइट पर अपना नाम बदलकर हिंदू लड़की से दोस्ती की। उसको बहला फुसलाकर कर दो सप्ताह पहले भगाकर लाया था। लड़की छत्तीसगढ़ की रहने वाली है। युवक ने उसे घर में रखा है। युवक उससे निकाह करने की तैयारी कर रहा था। इसी दौरान हिन्दू समुदाय के लोगों को जानकारी हुई तो इसकी सूचना पुलिस को दिया गया। सूचना के बाद पलिस ने बीती रात बशीर के घर पहुंच कर लड़की व लड़के को अपने कब्जे में ले लिया और छानबीन में जुट गई।

लड़के की मां बोली कोर्ट मैरिज की थी तैयारी

दूसरी तरफ युवक की मां का कहना है कि दोनों में प्यार था। लड़की 23 साल की है पूरी तरह बालिग़ है। छत्तीसगढ़ उसका बेटा कारोबार के सिल सिले में जाता था। इसी दौरान दोनों में प्यार हुआ और दोनों यहा आकर वह कोर्ट में शादी की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान पुलिस आई और लड़की लड़के को अपने साथ लेकर चली गई। लेकिन इस प्रकरण में लड़का और लड़की का कोई बयान अभी तक सामने नहीं आ सका है। क्योंकि मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपी लड़का फरार हो गया है। कुछ लोग कहते हैं कि वह पुलिस के कब्जे में है। सच क्या है पुलिस भी इसका खुलासा नहीं कर रही है। इसके अलावा पुलिस ने ल़ड़की को अपने संरक्षण में लेकर कहीं भेज दिया है।

संवेदनशील कस्बा है शोहरतगढ़

ज्ञात रहे कि सामाजिक सद्भाव के मामले में शोहरतगढ़ कस्बा अत्यंत संवेदनशील माना जाता है। यहां दोनों समाज के कट्टरपंथी तत्वों का प्रभाव है। इसलिए छोटी सी बात पर कस्बे में तनाव हो की घटनाएं अक्सर देखी जाती हैं। अक्सर तनाव के चलते मारपीट व अगजनी की घटनाएं भी होती रही हैं। इसलिए यहां के शांतिप्रिय नगरिक इस घटना पर तत्काल निष्पक्ष और प्रभावी कार्रर्वाई चाह रहे हैं। फिलहाल शोहरतगढ़ पुलिस मामले की संवेदनशीलता के मद्देनजर हलात पर कड़ी नजर रख रही है।

थानाध्यक्ष ने कहा—

इस संबंध में थानाध्यक्ष  शोहरतगढ़ पंकज कुमार पांडेय ने बताया कि मामले की सूचना मिलते ही लड़की को बरामद कर लिया। उसे वन स्टाप सेंटर भेज दिया गया और तहरीर के आधार युवक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। इसी के साथ पूरे टाउन पर सतर्क नजर भी रखी जा रही है।

 

 

Leave a Reply