कंपाउंडर हत्याकांडः पांच दिन से सिर्फ अंधेरे में तीर चला रही पुलिस, सुराग तो अस्पताल से ही मिलेगा

July 14, 2023 2:04 PM0 commentsViews: 894
Share news

नजीर मलिक


सिद्धार्थनगर। इटवा कस्बा स्थित एक प्राइवेट अस्पताल के कंपाउंडर वसीउल्लाह उर्फ वसी खान की पाच दिन पूर्व हुई हत्या के अपराधी अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं। जबकि घटना के बाद पुलिस ने सीसीटीवी में प्राप्त संदिग्ध चेहरे के आधार पर दावा किया था कि वह हत्यारों के करीब है। परन्तु पांच दिन बीत जाने के बाद भी वह अभी तक अंधेरे में हाथ पांव मार रही है। जबकि जानकारों का मानना है कि इस मर्डर के सूत्र अस्पताल परिसर से ही मिलेंगे। इस कांड के पीछे प्रेम-प्रसंग का मामला होने की चर्चा है। घटना की जांच में जुटी पुलिस भी इस पहलु को शामिल कर चुकी है। फिर भी पुलिस अभी तक सफलता से कोसों दूर नजर आ रही है।

हत्या का कोई कारण नहीं दिखाता सिवाय प्रेम प्रसंग के

रविवार सुबह जब वसी खान की लाश मिली तो सभी चौंक पड़े। 25 वर्षीय स्मार्ट युवक वसी अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने वाला अस्पताल का शौकिया कंपाउंडर था। दरअसल वह कंपाउंडरी के साथ मेडिकल एक्जाम की तैयारी भी कर रहा था। उसका किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं था। वह या तो अस्पताल की २८ वर्षीया डाक्टर के निर्देश पर काम करता था या फिर खाली समय में अपनी पढ़ाई व परीक्षा की तैयारी करता था। ऐसे में उसका कत्ल होना आश्चर्य की बात थी। कत्ल की सुबह उसकी जानकारी सबसे पहले डाक्टर के पति को हुई। उन्हीं की सूचना पर पलिस मौके पर पहुंची। सवाल है वसी का कत्ल क्यों हुआ और किसने किया? अस्पताल में लूट अथवा चोरी के भी निशान नहीं मिले हैं। झगड़ा उसका किसी से था नहीं। ऐसे में प्रेम प्रसंग ही एक मात्र वजह बचती है जिसके कारण उस निर्दोष की जान गई हो।

इटवा कस्बे में यह चर्चा आम है कि या तो बसी का सम्बंध किसी महिला से रहा हो और इसकी जानकारी मिलने पर उसके किसी परिजन ने यह कृत्य किया हो अथवा उसने किसी युगल को आत्तिजनक अवस्था में देख लिया हो और भांडा फूटने के डर से उसे रास्ते से हटा दिया गया हो। बहरहाल अस्पताल में रात के वक्त किसी बाहरी आदमी के आकर प्रेमालाप करने की संभावना कम है इसलिए कस्बावासी वसी का ही किसी से प्रेम संबंध पर अधिक बल देते हैं। इस मामले में कुछ लोग तो बाकायदा खुल कर कयास भी लगाते हैं।

पुलिस सख्ती से पूछताछ करें तो—-

वैसे यह बात जरूर है कि कत्ल जिसने भी और जिस वजह से भी किया हो लकिन उसके सूत्र अस्ताल में अवश्य मिल सकते हैं। पुलिस इस तथ्य को ध्यान में रख कर जांच भी कर रही है मगर अब तक वह कोई भी सुराग पा सकने में विफल है। जबकि लोगों का मानना है कि पुलिस अस्पताल से सम्बिंधित लोगों से कड़ाई से पूछताछ करे तो इस केस का सुरागमिल सकता है। थानाध्यक्ष इटवा विजय बहादुर सिंह भी इन संभावनाओं को नकारते नहीं लेकिन मीडिया से सिर्फ इतना ही कह पाते हैं कि जांच की जा रही है, शीघ्र ही खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

क्या है हत्या की पूरी घटना

इटवा में कस्बा में स्थित एक निजी अस्पताल में कंपाउंडर का कार्य कर रहे युवक वसी खान की रविवार रात को हत्या हो गई थी। धारदार हथियार से उसके गले पर कटने का घाव था और मौके पर अत्याधिक रक्तस्राव होना पाया गया था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। इसके साथ ही घटना स्थल के साथ ही अन्य पहलुओं की जांच में जुटी हुई है। उधर, हत्या के दिन से ही कस्बे के लोग घटना को को प्रेम-प्रसंग से जोड़ रहे हैं। जहां कुछ लोग कंपाउंडर को भी प्रेस प्रसंग से जुड़े रहने को प्रमुख कारण बता रहे हैं, तो वहीं कुछ लोग इसे दो बड़े लोगों को प्रेम-प्रसंग करते देख लेने के चलते हत्या होने का कारण बता रहे हैं। बहरहाल हत्या क्यों और कैसे हुई, यह जांच के बाद पता चल पाएगा। उधर, जांच के लिये स्थानीय पुलिस समेत क्राइम ब्रांच टीम भी लगी हुई है, परंतु अभी तक पुलिस किसी अंतिम निष्कर्ष तक नहीं पहुंच सकी है। जबकि जिले के एसपी भी घटना स्थल का दौरा करके हत्यारों को शीघ्र पकड़ने का निर्देश दे चुके हैं।

Leave a Reply