भ्रष्टाचार के अड्डे में तब्दील हो गया इटवा का रजिस्ट्री दफ्तर

November 7, 2015 5:10 pm0 commentsViews: 284
Share news

हमीद खान

Ujjain7408इटवा तहसील के रजिस्ट्री कार्यालय में इन दिनाें भ्रष्टाचार का बोलबाला है। तोहफा व ईनाम के नाम पर क्रेता-विक्रेता का शोषण आम हो गया है। विभागीय जिम्मेदारों की शह पर यहां चप्पे-चप्पे पर दलाल सक्रिय हैं। बैनामा कराने आये लोगों से जबरन अधिक रकम वसूल कर शोषण किया जा रहा है।

सबसे अहम बात यह है कि तहसील परिसर में ही सिथत इस आफिस पर नकेल कसने में अफसर अक्षम साबित हो रहे हैं। जिसका खामियाजा जमीन क्रेता व विक्रेता को झेलना पड़ रहा है। जिसको लेकर ़क्षेत्र वासियों में काफी आक्रोश है।

ग्राम सिसवां बुजुर्ग निवासी एक ब्यक्ति ने बताया कि वह अपने एक दोस्त के साथ बैनामा कराने गये थे। संयोग से गारंटर के बनने की बात आयी तो मौके पर पहचान पत्र मौजूद नहीं था। जिसके एवज 1000 रूपये लिये गये।

यह तो महज एक उदाहरण मात्र है। ऐसे किसी को नाबालिग बताकर व तोहफा के नाम शोषण की बात आम हो चुकी है। सूत्र तो यहां तक बताते हैं कि पैसा के दम पर इस आफिस में असम्भव कुछ नहीं है। इन्हीं सूत्रों की मानें तो ऐसे भी कई बैनामे यहां हुए हैं, जिनका मुकदमा विभिन्न न्यायालयों में लम्बित है। क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी से समस्या से निजात दिलाने की मांग की है।

(20)

Leave a Reply


error: Content is protected !!