इटवा थाना बना क्राइम हब, निरंतर अपराधों के बीच पुलिस पर उठ रहे सवाल

July 9, 2020 2:18 pm0 commentsViews: 407
Share news

— विगत 3 सप्ताह में इटवा थाना क्षेत्रों में हो चुके दो हत्याएं, प्रतिदिन हो रही है मारपीट की बड़ी बड़ी घटनाएँ

— प्रभारी से नहीं सम्भाला जा रहा थाना, पिपरी बुज़ुर्ग में मारपीट का दिल दहला देने वाला विडियो हो रहा वायरल


आरिफ मक़सूद


इटवा, सिद्धार्थ नगर : प्रदेश में लगातार बढ़ रहे क्राइम के बावजूद पुलिस अपना रवैय्या बदलने को तैयार नही है . इटवा थाना क्षेत्र में हर दिन हो रही बढ़ी घटनाएँ पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर रहा है  । मनबढ़ों और दबंगों का हौसला इस कदर  बढ़ गया है कि  किसी को भी सरेआम बेरहमी से पीट पीट कर लहुलुहान कर रहें हैं  ।

ताजा मामला थाना क्षेत्र के ग्राम पिपरी बुज़ुर्ग का हैं , जहाँ दबंगों द्वारा एक व्यक्ति को बेहरमी से पीटने का विडियो वायरल हो रहा है । इस मामले में तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, पर पीड़ित पक्ष का आरोप है कि दुसरे पक्ष ने अपने कई रिश्तेदारों को बुला कर मेरे पूरे परिवार को बुरी तरह मारा पीटा और फरार हो गये । पुलिस विडियो के अधार पर कार्यवाई नही कर रही है जबकि मारपीट का पूरा विडियो पुलिस के पास उपलब्ध है । जिसमें बेरहमी से मार रहे लोगों का चेहरा साफ़ देखा जा सकता है । पुलिस चंद लोगों पर कार्यवाई करके कई आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है ।

इटवा थाना बन चूका है सुलह समझौता का घर

बड़े बड़े मामलों में आरोपियों पर कार्यवाई करने के बजाय इस थाने में पुलिस सुलह समझौता कराने में ज्यादा रूचि लेती है , जिससे दबंगों का हौसला बुलंद रहता है और वह हत्याएं जैसी घटनाओं को आसानी से अंजाम दे रहें हैं , पुलिस हर मामले में अपना लाभ देखने लगती है. यही कारण है कि इस थाने में आये दिन हत्या से लेकर मारपीट की बड़ी बड़ी घटनाएँ सामने आरही है . पीड़ित पक्ष को सुलह समझौता में ही पुलिस भलाई बताने का कार्य करती है. ऐसे मे पुलिस के कार्यप्रणाली पर तरह तरह के सवाल उठने लगे हैं ।

महिला एंव युवक को दबंगों द्वारा बेहरमी से पीटने का क्या है मामला

थाना क्षेत्र के ग्राम पिपरी बुजुर्ग में सोमवार को पुरानी रंजिश को लेकर दो पक्षों के बीच में मारपीट हुई। एक पक्ष ने सरेआम लाठी-डंडा से महिला एंव  उसके पुत्र को जमकर पिटाई की । महिला अपने पुत्र को बचाने का प्रयास कर रही थी। पर विपक्षी बेरहमी से पीटते रहे । जिसकी विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है । हर कोई इस विडियो को देख कर उफ्फ कर रहा है ।
गांव निवासी आलिया पत्नी एजाज अली इलाज कराने के लिए पुत्र के साथ बाइक से चिकित्सक के यहां जा रही थी। इसी दौरान विपक्षियों ने रास्ते में रोक लिया। जबतक लोग कुछ समझते लाठी-डंडे से हमला कर दिया। पुत्र को बचाने का प्रयास कर रही आलिया की भी पिटाई की। यह देख बबलू, एजाज, जाहिदा, ताहिरा ने बीच बचाव करने का प्रयास किया तो उन्हें भी मारा । ग्रामीणों ने घायलों को इलाज के लिए सीएचसी इटवा पहुंचाया ।

क्या है पुरानी रंजिश

दोनों पक्षों के बीच तीन दिन पहले बच्चो के विवाद को लेकर क्षड़प हुवा था । जिसकी लिखित शिकायत एक पक्ष द्वारा इटवा थाने पर किया गया था । जिस पर पुलिस ने एक पक्ष पर 151 की कार्यवाई की थी . इस कार्यवाई से एक पक्ष संतुष्ट नही था और उसने सोमवार दोपहर अपने रिश्तेदारों को इकठ्ठा कर दुसरे पक्ष पर हमला कर बर्बरता की सारी हदें पार कर दी ।

                     इन  घटनाओं में इटवा पुलिस पर उठे सवाल

केस – 1.    दो को जुलाई इटवा थाना क्षेत्र के ग्राम त्रिकोलिया में जमीनी विवाद को लेकर एक पक्ष ने दुसरे पक्ष के घर पर चढ़ कर लाठी डंडों से मारा पीटा . जिसमें एक परिवार के 4 लोग बुरी तरह से घायल हुए . मारपीट का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई , जिसमें साफ़ साफ़ देखा जा सकता है कि मनबढ़ों ने किस तरह से एक गरीब परिवार पर जुल्म किया . पीड़ित पक्ष ने  इसकी तहरीर थाने पर दिया. पर दोषियों पर कोई कठोर कार्यवाई नही हुई , जिससे पीड़ित न्याय के दर दर भटक रहा है ।
केस -2 .      इटवा थाना क्षेत्र के ग्राम सिकरा में काफी दिनों से दो पक्ष  के बीच जमीनी विवाद चल रहा था , मामला कई बार थाने पर पहुंचा पर कोई हल नही निकला .  पुलिस के लापरवाही के चलते 9 जून को दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हुई जिसमें एक महिला की मौत हो गई थी ।  

केस -3.    थाना क्षेत्र के ग्राम सडवा में 20 जून को दो पक्षों के बीच में बरसात के पानी निकालने को लेकर मारपीट हुवा जिसमें एक व्यक्ति की मौके पर मौत हो गई थी. दोनों पक्षों के बीच में बरसात के पानी निकालने को लेकर 1 माह से विवाद चल रहा था ।

सुलह समझौता में इटवा पुलिस करती धन उगाही – पूर्व विधानसभा अध्यक्ष
दो दिन पूर्व इटवा कार्यालय पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने स्थानीय पुलिस पर धन उगाही का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पुलिस पैसा लेकर सुलह समझौता कराने में ज्यादा रूचि लेती है यही कारण है कि प्रतिदिन यहाँ घटनाएँ हो रही है

(368)

Leave a Reply


error: Content is protected !!