अनुराग ठाकुर इशारों में बता गये कि जगदम्बिका होंगे भाजपा उम्मीदवार

March 24, 2019 6:16 pm0 commentsViews: 1710
Share news

—  अनुराग ठाकुर ने कम से कम पांच बार की  जगदम्बिका पाल को जिताने की अपील

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर की जनसभा में अनुराग ठाकुर के साथिंसद जगदम्बिका पाल

सिद्धार्थनगर। भारतीय क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा कि बरिष्ठ नेता अलुराग ठाकुर ने आज इशारों इशारों मे यह बता दिया कि डुमरियागंज सीट से भाजपा से सांसद जगदम्बिका पाल ही लड़ेंगे। ठाकुर भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं। उनके इस बयान से पाल खेमे के लोग बेहद उत्साहित हैं। उनके समर्थक जश्न में डूबे हुए हैं। खुद पाल साहब ने भी राहत की सांस ली ।‘

युवा हाने के बावजूद भाजपा के वरिष्ठ नेताओं मे शुमार किये जाने वाले और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष रह चुके अनुराग ठाकुर आज सिद्धार्थनगर जिला मुख्यालय पर एक जनसभा को सम्बोधित करने आये थे। उसी दौरान उन्होंने सांसद पाल के चुनाव लड़ने का इशारा किया। अनुराग ठाकुर भारतीय क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष तो हैं ही वह पार्टी के शीर्ष नेताओं में एक, भाजपा वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार धूमल के पुत्र भी  हैं। इससे उनके बयान की महत्ता को समझा जा सकता है।

दरअसल आज यहां सिद्धार्थनगर जिला मुख्यालय पर आयोजित भाजपा की सभा में अनुराग ठाकुर ने मोदी सरकार की वापसी की जरूरतों पर भाषण दिया। उन्होंने मोदी राज की तमाम उपलब्धियां गिनाईं। इस सरकार की वापसीकिी वजहें पर भी प्रकाश डाला।  इसी दौरान उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की वापसी के लिए यह भी जरूरी है कि आप भी यहां से जगदम्बिका पाल को जिताएं।  अनुराग ने पाल को जिताने की कम से कम पाच बार अपील की। इसलिए उनकी अपील को जबान का फिसलना नही कहा जा सकता है।

इस बारे में राजनीतिक जानकारों का कहना है कि अनुराग ठाकुर चाहते तो जगदम्बिका  पाल का नाम लेने की बजाय  यहां से भाजपा को जिताने की बात कर सकते थे। लेकिन उन्होंने सांसद पाल का नाम लेकर इशारा कर दिया कि अब तक इस सीट से चल रहीं टिकट की राजनीतिक  गतिविधियां अब समाप्त प्रायः हैं और पाल ही यहां से प्रत्याशी होंगे। हालांकि पाल के प्रतिद्धंदी खेमे का कहना है कि अभी टिकट की घोषणा नहीं हुई है, लेकिन राजनीतिक जानकार कहते हैं कि कोई बड़ा नेता बिना किसी वजह के इस प्रकार के इशारे नहीं करता।

गौर तलब है कि इधर पिछले 6 महीनों से सांसद जगदम्बिका पाल के टिकट कटने की चर्चाएं थीं। लेकिन पिछले कुछ दिनों से सांसद पाल की बाडी लैंग्वेज बदली हुई देखी जा रही थी, जिससे अनुमान लगाया जा रहा था कि उनके टिकट कटने के आसार कम हैं। हां राजनीति में कब क्या हो जाये कुछ कहा नही जा सकता।  फिलहाल अगला अपडेट जानने के लिए कपिलवस्तु पोस्ट पर नजर जताए रखिए।

 

 

(1552)

Leave a Reply