जलजमाव की समस्या से पीड़ित है शोहरतगढ़ कस्बे के गड़ाकुल वासी

January 21, 2020 3:32 pm0 commentsViews: 410
Share news

निज़ाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। गड़ाकुल मोड़ का इलाका शोहरतगढ़ कस्बे का मुख्य द्वार है। इसी रास्ते से लोगों का तहसील मुख्यालय आना जाना होता है। यह इलाका इंट्रेन्स गेट के रूप में जाना जाता है। नाली का पानी रोड में सड़क पर बह रहा है। यह स्थिति काफी दिनों से है। यहां दुर्गंध उत्पन्न हो रहा है, और लोगों के घरों में घुस रहा है। लेकिन इस समस्या का समाधान कराने के लिए किसी प्रकार की कोई पहल नहीं देखी जा रही है।  नौगढ़ – शोहरतगढ़ – बढ़नी राष्ट्रीय राज मार्ग संख्या 730  मुख्य पथ पर बसा हुआ है। इस एन एच मार्ग पर हजारों लोगों का आवागमन प्रतिदिन होता रहता है। लोग जलजमाव की समस्या से त्रस्त है। बाजार में सड़क पर पानी बह रहा है। नालियां जाम है।

एक तरह से ऐसा लगता है कि नालियां खतम सी हो गई हैं। लोगों को आवागमन करते समय नाली का गंदे पानी की छींटे शरीर पर पड़ रही है। छात्र , राहगीर और मुख्यमार्ग से सटे हुवे आबादी को रोज दो चार होना पड़ रहा है। लेकिन इस समस्या की ओर ध्यान देने वाला कोई नहीं दिख रहा। लोगों का कहना है कि जलजमाव के कारण वह प्रतिदिन दर्जनों वाहन सवार असंतुलित होकर एक दूसरे के साइड का अतिक्रमण कर रहे  हैं और चोटिल हो रहे हैं और सप्ताह भर पहले एक बड़ी घटना में एक व्यक्ति का एक्सीडेंट हो चुका है जिसकी मौके पर मौत हो गई थी। । यह इलाका  गड़ाकुल ग्राम पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

छात्र संघ तिराहा मोड़ की स्थिति को देखकर ही लोग शोहरतगढ़ शहर के सौंदर्यीकरण का अनुमान लगाते है। यह ऐसा महत्वपूर्ण इलाका है, जहां कई प्रमुख सरकारी और अर्ध सरकारी एवम व्यवसायिक प्रतिष्ठान हैं। सघन आबादी वाला क्षेत्र है, लेकिन जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने के कारण नाली का पानी सड़क पर बह रहा है। चूंकि यह इलाका गड़ाकुल ग्राम पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत आता है, और हाल ही में सीमा विस्तार कर इसको आदर्श नगर पंचायत शोहरतगढ़ में जोड़ दिया गया है । जलजमाव की समस्या के संबंध में जब रिपोर्टर ने गड़ाकुल के लोकप्रिय प्रधान श्याम सुंदर चौधरी से बात किया तो उन्होंने बताया कि जहां जल जमाव की समस्या है वहां एन एच होते हुवे भी बहुत संकरा रास्ता है जहां पूर्व में नाली बनी हुई थी पर वह सब पी डब्लू डी के सीमा के अंदर आती हैं विभाग को इसकी खबर है।

सीमा विस्तार के कारण गड़ाकुल ग्राम पंचायत  इस में सीधे तौर पर हस्तक्षेप नहीं कर सकती पर इसके बाद भी हमारा प्रयास जारी है। तहसील मुख्यालय शोहरतगढ़ का सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र होने के कारण इस स्थान पर जलजमाव एवं गंदगी जैसी समस्याएं व्याप्त होना उचित नहीं कहा जा सकता।   सांसद या विधायक स्तर से या सरकारी स्तर से इस दिशा में कोई पहल नहीं देखी जा रही है। यह स्थिति काफी दिनों से है। गड़ाकुल तिराहा छात्र संघ  मोड़ रेलवे स्टेशन आधा दर्जन इंटर कॉलेज और डिग्री कॉलेज को जोड़ने वाला इकलौता रास्ता यही है जो शोहरतगढ़ को नौगढ़ और बढ़नी से जोड़ने वाला यह एकमात्र रोड है, जहां जल निकासी की व्यवस्था नहीं हो पाने के कारण जलजमाव की समस्या व्याप्त रहती है लोगों का कहना है कि सड़क के जलमग्न होने का मुख्य कारण यह है कि इस क्षेत्र की नालियां भरी हुई है। काफी दिनों से नालियों की सफाई नहीं हुई है। घरों का पानी इन्हीं नालियों में गिरता है। दुकानदारों द्वारा भी अपने दुकान का अवशेष निकालकर नाली में डाल दिया जाता है।

युवा नेता नीलेश चौधरी , दिनेश दुबे, सलमान खान, बबलू खान, रवि, राकेश, देवेंद्र, अरविंद, प्रेमचंद, करिमुल्लह, रवि, दिनेश, पंकज, राकेश, ओमप्रका, विनोद सहित का कहना है कि मास्टर प्लान बनाकर नाला का निर्माण कराना होगा, तभी इस समस्या का समाधान हो सकता है। समस्या समाधान के लिए कई बार मुखिया प्रतिनिधि का ध्यान आकृष्ट कराया गया। मकहना है कि जल्द इसका समाधान हो जाएगा। बीच-बीच में कई बार सफाई कराई गई है।

बताते चलें कि उक्त स्थान पर आधी अधूरी और बन्द पड़ी नाली को कुछ दूर तक  बनाकर बोरा पेट्रोल पंप के पास छोटी नहर में गिरा दिया जाए तो जल निकासी की व्यवस्था का प्रबंध हो सकता है। लेकिन इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर पहल किए जाने की आवश्यकता है। लोगों का कहना है कि मुख्य मार्ग पर मोड़ की इतनी नारकीय स्थिति हो सकती है। तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि बरसात के दिनों में कितनी बुरी स्थिति हो जाएगी। पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष श्याम सुंदर ने इस समस्या को देखते हुए जनहित में जल्द से जल्द समस्या समाधान हेतु आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग की है।

(223)

Leave a Reply


error: Content is protected !!