समाज को विभाजित कर सकती है जातीय जनगणना- पंकज चौधरी

August 18, 2021 3:39 pm0 commentsViews: 297
Share news

नजीर मलिक

पंकज चौधरी को बुद्ध प्रतिमा भेंट करते सिद्धार्थ अग्रवाल

सिद्धार्थनगर। जातीय जनगणना समाज को विभाजित करने में खतरनाक भूमिका अदा कर सकती है। इसलिए इसे मानना अनुचित होगा। इससे पूर्व सन 1931 जाति आधारित जनगणना हुई थी, जिसके परिणाम सकारात्मक नहीं मिले थे।
यह बातें केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री व महाराजगंज के सांसद पंकज चौधरी ने आज स्थानीय सर्किट हाउस में कही। वह मंत्री बनने के बाद पहली बार अपने गृह जनपद महाराजगंज जा रहे थे तथा रात्रि विश्राम के बाद यहां मीडिया से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार और प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में देश निरंतर विकास के पथ पर अग्रसर है।

उन्होंने कहा कि पार्टी के निर्देश पर वह बस्ती, सिद्धार्थनगर में रुक कर भाजपा की नीतियों और सरकार की योजनाओं को धरातल पर ले जाने का प्रयास करना है। इस लिए वह दोनों जनपदों में रुक कर जिम्मेदारों से बातचीत किए और आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये। अपनी संक्षिप्त बात चीत में राज्य मंत्री चौधरी ने कहा कि वर्तमान सरकार में दलित, पिछडे़ आदि सभी का हित सुरक्षित है। भयमुक्त समाज है। हिंसा करने वालों के प्रति सरकार का रवैया कठोर है।  जिससे आम आदमी चैन की सांस ले पा रहा है।

एक संवाददाता द्वारा जातीय जनगणना को लेकर सवाल करने पर राज्यमंत्री पंकज वौधरी का कहना था कि इससे समाज विभाजित होगा। इसस पूर्व भी सन 1931 में अंग्रेजों ने जातीय जनगणना कराई थी मगर अनुकूल परिणाम नहीं मिले, उलटे सामाजिक विभाजन के खतरे मंडराने लगे। यह लोकतंत्र विरोधी मांग है। वार्ता में उनके साथ भाजपा जिलाध्यक्ष गोविंद माधव के साथ कन्हैया पासवान, फतेबहादूर सिंह, विपिन सिंह, नन्हें सिंह, आशीष शुक्ला, दीपक मौर्या सहित पूरी कार्यकारिणी और सैकड़ों कार्यकर्ता आदि लोग मौजूद रहे।

केंद्रीय मंत्री श्री चौधरी के स्वागत में जिले के सांसद जगदम्बिका पाल और दोनों मंत्री राजा जय प्रताप सिंह, सतीश द्विवेदी, विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह, श्यामधनी राही, पूर्व पार्टी अध्यक्ष लाल बाबा, नरेंद्र मणि, एस पी अग्रवाल, सत्य प्रकाश राही, लवकुश ओझा सहित कई सौ वरिष्ठ भाजपा नेता कार्यकर्ता फूलमाला व अन्य प्रतीक चिन्ह भेंट किया।

इससे पूर्व जिला मुख्यालय पहुंचने पर व्यापारियों की एक टीम ने वरिष्ठ व्यवसाई सिद्धार्थ अग्रवाल के नेतृत्व में तिराहे पर केन्द्रीय राज्य मंत्री का स्वगत कर उन्हें प्रतीक चिन्ह भेंट किया। उनके साथ बल्लू श्रीवास्तव, तारकेश्वर मिश्रा, संजय जायसवाल आदि भी उपस्थित रहे। सिद्धार्थ भाजापा के वरिष्ठ नेता और पूर्व चेयामैन एसपी अग्रावाल के पुत्र हैं।

 

 

(268)

Leave a Reply


error: Content is protected !!