मतदान के बाद जीत–हार के गुणा भाग में जुटे उम्मीदवार, सभी का दावा जीत उनकी ही होगी

February 28, 2017 4:29 pm0 commentsViews: 1191
Share news

अजीत सिंह

paswan

सिद्धार्थनगर। चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद होने के बाद अब कयासबाजियों का दौर शुरू हो गया है। प्रत्याशी व उनके समर्थक वोटों की गुणा-गणित सुलझाने में लग गए हैं। प्रतिद्वंदी कौन है और कितने वोट उनके खाते में आए, इसी आंकलन में सब व्यस्त हैं।

bjp

इटवा में भारी हलचल

बीआईपी सीट इटवा में विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, भाजपा प्रत्याशी सतीश द्विवेदी और बसपा के अरशद खुर्शीद की तगड़ी घेराबंदी को आंकड़ों के जरिए तोडऩे में लगे हैं। उनके आवास पर सुबह से से ही समर्थकों का हुजूम लग गया। सक्रिय कार्यकर्ता अपने बूथों पर सपा की क्या स्थिति रही, यह बताने में मशगूल दिखे।

सपा– भाजपा कैंप की सोच

सपा खेमे के लोगों का दावा है कुल पड़े वोटों में आधे की हिस्सेदारी उनकी है और कोई भी पार्टी उनसे लोहा ले पाएगी। ऐसा ही कुछ नजारा भाजपा प्रत्याशी सतीश द्विवेदी के कार्यालय पर भी नजर आया। मतदान के दिन की भागदौड़ की थकान उतरते ही कार्यकर्ता सुबह से ही आकर यहां जम गए। पड़े वोटों में अपनी हिस्सेदारी की गुत्थी सुलझाते नजर आए। सतीश द्विवेदी का दावा है कि उन्हें ७० हजार से अधिक वोट मिलेंगा। वह सपा को लड़ाई में मान ही नहीं रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि  चुनाव में उनकी टक्कर बसपा से थी लेकिन वह भी बहुत पीछे रह गई और वे चुनाव भारी मतों से जीतेंगे।

अरशद के कैंप में उत्साह

वहीं विधान सभा की त्रिकोणीय लड़ाई के तीसरे महारथी और बसपा प्रत्याशी अरशद खुर्शीद व उनके समर्थकों भी भारी अंतर से जीत का दावा कर रहे हैं। उनका कहना है कि चुनाव में उनकी लड़ाई भाजपा से थी लेकिन मतदान के दिन वह भी काफी पीछे छूट गई। अरशद का दावा है कि उन्हें ८० हजार से अधिक वोट मिलेंगे। हालांकि आंकड़ों के आगे इन नेताओं व उनके समर्थकों के दावे  नहीं टिकते।

तथ्य

इटवा विधान सभा में कुल वोटरों की संख्या ३१८७८४ के सापेक्ष ५०.०८ फीसदी ही वोटिंग हुई। इस हिसाब से नेता जितने वोट पाने का दावा कर रहे हैं उतने वोट तो पड़े ही नहीं। इसके अलावा तीन अन्य प्रत्याशी भी चुनावी मैदान में थे। फिलहाल प्रत्याशियों के जीत व वोटों के दावों पर से परदा ११ मार्च को मतगणना के दिन ही हटेगा और पता चल जाएगा कि किसके दावों में कितना दम है।

कपिलवस्तु में सपा व भाजपा कर रही जीत के दावे

राही कैंप की सोच

कपिलवस्तु विधानसभा सीट पर भाग्य आजमाने वाले प्रत्याशी व उनके समर्थक अपने वोटों को जोडऩे में लगे हैं। भाजपा प्रत्याशी श्यामधनी राही अपने समर्थकों व पार्टी नेताओं के साथ अपने वोटों की गुणा-गणित करते नजर आए। उनका दावा है कि विधानसभा के वोटरों ने उन्हें एकतरफा मतदान किया है और कोई लड़ाई में है ही नहीं। उन्हें एक लाख बीस हजार से ज्यादा वोट मिलेगा।

विजय पासवान के खेमे में उत्साह

ऐसी ही कुछ तश्वीर दिन निकलते ही सपा प्रत्याशी व विधायक विजय पासवान के पकड़ी स्थित आवास पर नजर आई। जहां भारी संख्या में समर्थकों का जमावड़ा रहा। चुनाव में हर कोई अपनी भरपूर मेहनत का दावा करता नजर आया और अपने क्षेत्र से भारी संख्या में वोट मिलने का भरोसा दिलाता रहा। विजय पासवान व उनके समर्थकों का दावा है कि क्षेत्र की जनता ने इस बार जाति-धर्म से ऊपर उठकर विकास के नाम पर वोट किया। क्षेत्र में हुए कार्य के चलते सपा को हर वर्ग का समर्थन मिला है और भारी अंतर से चुनाव वही जीतेंगे। सपा का दावा है कि उसे भी सवा लाख से कम वोट नहीं मिलेंगे।

तथ्य

हालांकि कपिलवस्तु विधान सभा में वोटरों की संख्या ४२९८७९ है और ५४.३५ फीसदी ही मतदान हुआ है। दोनों प्रतिद्वंदियों के दावों  हिसाब, कुल पड़े वोटों का आंकड़ा भी पार कर जा रहा है। जबकि बसपा के अलावा अन्य तीन प्रत्याशियों की भी इन मतों में हिस्सेदारी है। फिलहाल जीत-हार की गणना का यह सिलसिला मतगणना तक थमने वाला नहीं है।

 डुमरियागंज

इस सीट पर कुल 2 लाख 5 हजार पड़े हैं। सपा उम्मीदवार चिनकू यादव के कैम्प में गुणा भाग के बाद जो नतीजा निकाला जा रहा है उसके मुताविक  सपा को एक लाख से अधिक मिलने हैं। उनके बड़े नेता अफसर रिजवी ने जीत का दावा भी कर दिया है।

इसके बरअक्स  भाजपा प्रत्याशी राघवेन्द्र सिंह के खेमे में भी लगभग एक लाख वोट पाने की गणित बताई जा रही है। यह खेमा भी उल्लास में है, मगर  पीस पार्टी के खेमे में निराशा है, इसके बावजूद भी यह खेमा जीतने की उम्मीद कर रहा है।  सबसे सटीक आंकलन बसपा खेमे का है। इस खेमे में चर्चा है कि उसे ८० हजार वोट मिलने चाहिए। इससे ज्यादा वोट पाकर ही कोई उन्हें हरा सकता है।

 

(42)

Leave a Reply


error: Content is protected !!