जीतेन्द्र मर्डर मिस्ट्रीः एक साथ तीन सगी बहनों से अवैध सम्बंध बनाने के चलते गई जीतेन्द्र की जान?

April 27, 2022 1:54 pm0 commentsViews: 1532
Share news

ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए आशंका के मद्देनजर युवतियों के

घर पर पुलिस फोर्स तैनात, तीनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा

 

नजीर मलिक

इंटरनेट फोटो

बांसी, सिद्धार्थनगर। शिवनगर डिड़ई थाना क्षेत्र के तिलौला गांव  के युवक जीतेन्द्र मिश्र की मौत का मामला बेहद रहस्मय हो चुका है। हालिकि जीतेन्द्र के परिजनों की तहरीर के आधार पर जीतेन्द्र की  तीनों कथित प्रेमिकाओं, जो आपस में सगी बहनें भी हैं, के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। परन्तु मामला इतना सीधा नहीं है जितना जीतेन्द्र के पिता ने तहरीर में दर्शाया है। यह जरूर हैकि एक साथ तीन बहनों से अवैध सम्बंध के वलते ही जीतेन्द्र को जान से हाथ धोना पड़ गया।

डिडई थाने के तिलौला गांव निवासी अर्जुन मिश्र के पुत्र जीतेन्द्र मिश्र गत 18 अप्रैल को थने के एक अन्य गांव में ही झुलसा हुआ पाया गया था, जिसकी इलाज के दौरान 25 अप्रैल को मेडिकल कालेज में मौत हो गई। अर्जुन मिश्र ने मंगलवार को शिवनगर डिड़ई थाने में तहरीर देकर कहा कि उसके पुत्र जितेंद्र मिश्र को 18 अप्रैल की रात खेसरहा थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी स्व. मूल चंद की पुत्री पुनीता, विनीता व सुनीता  ने फोन कर अपने घर बुलाया था। बेटे के वहां पर पहुंचने के बाद उस पर पेट्रोल डाल कर उसे जला दिया गया।

अर्जुन मिश्र की तहरीर के आधार पर बेटे की मौत के मामले में तीन सगी विनीता, पुनीता और सुनीता (काल्पनिक नाम) नामक तीन सगी बहनों के खिलाफ पेट्रोल डाल कर जलाने के बाद हुई मौत का केस दर्ज कर लिया गया है। लेकिन सवाल है कि जब मृतक जीतेन्द्र की तीनों बहनों से अवैध सम्बंध था और तीनों को एक दूसरे का राज मालूम था, तो वह भला घर बुला कर उसे पेट्रौल डाल कर क्यों जलाएगीं?

जाहिर है कि यह आरोप फिलहाल ज्यादा सटीक नहीं लगता। क्यों कि गांव वाले मानते हैं कि तीनों बहनों से जीतेन्द्र के रिश्ते मरने से पहले तक प्रगाढ़ बने हुए थे। उनके बीच किसी विवाद की जानकारी कभी प्रकाश में नहीं आयी थी। इसलिए तीनों बहनों द्धारा जीतेन्द्र मिश्र की हत्या की बात अस्वाभाविक लगती है।

पता चला है कि उन लड़कियों के परिवार की तरफ से जीतेन्द्र के खिलाफ पहले भी एक मुकदमालिखाया जा चुका था।फिर भी उन चारों का रिश्ता बना रहना इस बात की दलील है कि लड़कियां यह कृत्य नहीं कर सकती हैं। या अगर उन्होंने प्रेमी को बुलाया भी होगा तो भी उसे जलाने वाला कोई अन्य ही होगा। ग्रामीणों की आंशंका है कि इस मामले में लड़की पक्ष के किन्हीं अन्य लोगों का हाथ हो सकता है। बहरहाल इस घटना से गांव में लड़कियों के प्रति बहुत आक्रोश है। इसलिए पलिस ने  वहां पलिस बल भी तैनात कर रखा है।

बता दें कि तीनों सगी बहनों से मृतक जीतेन्द्र का अवैध सम्बंध अरसे से चला आ रहा था। इसके बावजूद तीनों बहनों में कोईविवाद न था।जीतेन्र भी उनके साथ आराम से सुखद पल बिताता था। इसलिए पलिस को चाहिएकि वह इस बात परपिचार करें कि इस घटना  को अंजाम देने में कुछ अन्य लोगों का हाथ तो नहीं है।

(1548)

Leave a Reply


error: Content is protected !!