गिरफ्तार अभियुक्तों ने कबूलाः सामूहिक ब्लात्कार के अलावा प्रेमी से मारपीट व लूट भी की थी

June 29, 2024 1:00 PM0 commentsViews: 200
Share news

जोगिया गैंग रेप का खुलासाः पुलिस एनकाउंटर में घायल होने के बाद गिरफ्तार हुए बदमाश, तीन के पैर में गोली लगी, दो को बाद में पकड़ा गया

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। जोगिया कोतवाली के निकट एक युवती से सामूहिक ब्लात्कार करने वाले पांच युवकों ने ब्लात्कार से पहले युवती के प्रेमी को मार पीट कर मौके से भगा दिया था तथा रेप के बाद उसने युवती के सारे सामान भी लूट लिया था। इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा पकड़े गये सभी अभियुक्तों ने किया है। उन्हें कल तड़के एक पुलिस मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था। मुठभेड़ में तीन अभियुक्तों को गोली लगी है।

पुलिस मुठभेड़ के बाद पकड़े गये अभियुक्त रामगुलाम निवासी कोटिया थाना उसका बाजार, जितेंद्र यादव निवासी तकीयहवा, रामदीन पासवान निवासी डडिया सूपा राजा, अमन कुमार लोधी निवासी जोगिया उदयपुर, गोलू उर्फ मिथुन लोधी निवासी बिटिया राजा थाना जोगिया उदयपुर ने पुलिस को बताया कि 24 जून की रात वे पांचों एक ढाबे पर पार्टी करने के बाद ककरही की ओर जा रहे थे। जोगिया उदयपुर थाने के आगे मेन रोड के किनारे पहुंचने पर उन्हें एक आधे-अधूरे मकान के सामने एक बाइक खड़ी दिखी। सभी उत्सुकता वश उसे देखने चले गए।  उन्होंने मकान के अंदर एक लड़का व एक लड़की को संदिग्ध अवस्था में देखा। वे सारा मामला  समझ गये कि मामला प्रेम अथवा अवैध सम्बंध का है। अतः  वे लोग उनका नाम-पता पूछते हुए वीडियो बनाने के साथ प्रेमी युवक को मारने लगे  इसी बीच युवक भाग निकला। प्रेमी  युवक के भागने के बाद वे लोग लड़की को कट्टे के बल पर जबरदस्ती बाइक पर बैठाकर हरैया गांव के पास नदी के किनारे ले गए और उसके साथ दुष्कर्म किया। साथ ही उसके बैग में रखे मोबाइल, जेवर, पैसे निकाल लिए और उसको पुन: बाइक पर बैठाकर सड़क पर छोड़ दिए। अगले दिन मिलकर उन्होंने पैसा और जेवर बांट लिया। पकड़े जाने के डर से वे सभी नेपाल भागने की फिराक में थे लेकिन पकड़े गए।

इस बारे में पुलिस अधीक्षक प्राची सिंह ने प्रेस वार्ता में बताया कि 25 जून को एक महिला ने थाना जोगिया उदयपुर में तहरीर दी थी। तहरीर के अनुसार, चिल्हिया थाना क्षेत्र की एक युवती दिल्ली रहती थी। वह दिल्ली से अपने प्रेमी से मिलने सिद्धार्थनगर आयी थी। 24 जून को दिल्ली लौटने के लिए वह मित्र के साथ बाइक से बांसी बस अड्डा जा रही थी। बांसी-नौगढ़ मार्ग पर सुनसान स्थान पर कुछ युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और उसका मोबाइल, रुपये, आभूषण व सामान छीन लिए। महिला की तहरीर पर पुलिस सामूहिक दुष्कर्म, लूट सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया था। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसओजी, जोगिया पुलिस सहित कई टीमें लगाई गईं।

इसी बीच एसओजी प्रभारी शेषनाथ यादव को बृहस्पतिवार देर रात मुखबिर से आरोपियों के बारे में जानकारी मिली। इस पर सर्विलांस सेल प्रभारी सुरेंद्र सिंह के साथ कोतवाल जोगिया की संयुक्त टीम ककरही पुल के पास पहुंच गई। शुक्रवार भोर में चेकिंग के दौरान एक बाइक बांसी की तरफ से आती देखकर पुलिस ने उसे रोकने का प्रयास किया। इस पर बाइक सवार तेज गति से हरैया बंधे की तरफ मुड़ गए, जिससे अनियंत्रित होकर बाइक गिर गई व बाइक सवार तीन लोग भागने लगा। पुलिस ने पीछा किया तो आरोपियों ने उन पर फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में तीनों बदमाशों को गोली लग गई और वे घायल होकर गिर गए। गोली तीनों के पैर में लगी है। तलाशी में उनके पास से असलहा, तमंचा समेत पीड़ित महिला का छीना गया मोबाइल फोन, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और रुपये बरामद हुए। इसके बाद पुलिस उन्हें पीएचसी जोगिया उदयपुर ले गई। पूछताछ में आरोपियों ने घटना में शामिल दो और युवकों गोलू उर्फ मिथुन व अमन के बारे में जानकारी दी, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन दोनों को भी गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply