निलंबित थानेदार को बचाने भाजपा नेता आगे आये, बदले में यादव सेना जनता के साथ आंदोलन पर उतरी

September 18, 2020 3:08 pm0 commentsViews: 2331
Share news

—- निलंबित कोतवाली प्रभारी ईमानदार हैं, उन्हें बहाल करें एसपी- भाजपा नेता कौशलेन्द्र त्रिपाठी

—- रिश्वतखोरी में निलंबित दारोगा का भाजपा नेता द्धारा बचाव बेशर्मी की हद- सिद्धांत यादव, यादव सेना

नजीर मलिक

दरोगा अंजनी कुमार राय के खिलाफ प्रदर्शन करते यादव सेना के कार्यकर्ता

सिद्धार्थनगर। जनपद के थाना  जोगिया के प्रभारी अंजनी कुमार राय की लाइन हाजिरी के बाद भाजपा नेता व जोगिया ब्लाक प्रमुख पति व यादव सेना के लोग आमने सामने आ गये हैं। ब्लाक प्रमुख के पति व भाजपा नेता कौशलेन्द्र त्रिपाठी व उनके समर्थक ने जहां थानाध्यक्ष के बचाव में खड़े हो गये हैं. वहीं थानाध्यक्ष के भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले संगठन ‘यादव सेना’ के लोग अब थानाघ्यक्ष के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग के साथ आंदोलन पर उतर आए हैं। वैसे पुलिस के समर्थन का ऐसा दृश्य देखने को कम ही मिलता है।

 जानकारी के अनुसार तीन दिन पूर्व जोगिया कोतवाली से लाइन हाजिर हो चुके प्रभारी निरीक्षक अंजनी कुमार राय  को बचाने के लिए जोगिया के ब्लाक प्रमुख के पति एवं भाजपा नेता कौशलेन्द्र त्रिपाठी मैदान में उतर आये। उन्होंने कई ग्राम प्रधानों एवं बीडीसी मेम्बरों को लेकर एसपी की गैरहाजिरी में अपर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर उन्हें ईमानदार बताया और उन्हें जोगिया कोतवाली का पुनः प्रभारी बनाए जाने की मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि यादव सेना इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है।

इस खबर के लीक होते ही यादव सेना की सिद्धार्थनगर की जिला इकाई के वर्करों ने कलक्ट्रेट पहुंच कर जम कर नारेबाजी और प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि कोतवाली प्रभारी के रिश्वत प्रकरण का आडियो और विडियो रिकार्ड वायरल होने के बाद ही एसपी ने उन्हें निलंबित किया है। इसके बावजूद भाजपा के नेता एक भ्रष्ट दारोगा का जिस बेशर्मी से बचाव कर रहे हैं वह निंदनीय व जनविरोधी है। यादव सेना ने लाइन हाजिरी को सजा नही मानते हुए पूरे मामले की जांच कर उनके खिलाफ मुकदमा उर्ज करने की मांग की है। इस संगठन के साथ जनता खड़ी है।

क्या है पूरी वायरल विडियो की घटना

बता दें कि जोगिया कोतवाली के ग्राम हड़कौली निवासी सफीरुल्लाह उर्फ चीनक का उसके भाई में सम्पत्ति खरीद फारोख्त का विवाद था। जिसमें आरोप के मुताबिक कोतवाली प्रभारी के कहने पर हल्के का एक सिपाही चीनक पक्ष से रुपया लेने गया था। इस मामले की पूरी विडियो वायरल हो गई थी। इसी बीच थानाध्यक्ष और भाजपा के एक छुटभैया नेता के बीच उसी विवाद को लेकर एक आडियो वायरल हो गई, जिसमें वह चीनक से रुपये लेकर कोतवाली प्रभारी दो लाख रुपया देने की बात कर रहा है।

इस प्रकरण को लेकर ही यादव सेना ने जिलाध्यक्ष विजय यादव की अगुआई में प्रदर्शन किया था। लेकिन इस प्रदर्शन से पहले भी यादव सेना ने धरना देकर मामले को सार्वजनिक किया था, जिसे संज्ञान में लेकर एसपी ने मामले की जांच कराई तथा प्रथम दृष्टतया आडियो विडिया सही पाकर कोतवाली प्रभारी अंजनी राय को निलंबित कर दिया था। जिसे बचाने के लिए ब्लाक प्रमुख के पति व भाजपा नेता कौशलेन्द्र त्रिपाठी आगे आये।

अंजलि यादव कांड में भी सुर्खियों में रहे थानेदार

बताते चलें कि अंजनी राय जिले के चर्चित थानेदारों में रहे हैं। इससे पूर्व थाना लोटन में भी तैनात थे। यादव सेना के महामंत्री सिद्धांत यादव के का कहना है कि अभी कुछ दिन पूर्व एक स्कूल की युवा शिक्षिका कि कथित हत्यारों को बचाने के नाम पर उन्होंने जम कर वसूली की। वैसे चर्चा है कि कथित हत्यारों से पांच लाख से अधिक की रकम ली गई।  

थानेदार ने डरा धमका कर पैसा लिया

इस बारे में पीड़ित व्यक्ति सफीरूल्लाह उर्फ चीनक का कहना है कि निलंबित प्रभारी निरीक्षक अंजनी राय का बेहद आतंक था। वे क्षे़त्र के सम्पन्न लोगों को डरा धमका कर अक्सर लम्बी रकम वसूलते थे। उन्होंने लम्बी डिमांड के लिए मुझे व मेरे परिजनों को काफी धमकाया। वे तब धमकाते रहे जब तक डर कर मैने पैसे नहीं दे दिए। चीनक का कहना है कि इस मामले में दोषी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।   

(2259)

Leave a Reply


error: Content is protected !!