सेक्सवर्धक दवा बनाने के लिए कछुओं की तस्करी, 10 कछुओं सहित दो तस्कर गिरफ्तार

June 15, 2020 11:10 AM0 commentsViews: 273
Share news

शिव श्रीवास्तव 

महाराजगंज। 66 वीं सशस्त्र सीमा बल सिद्धार्थ नगर 2 सीमा चौकी जोगिया बारी के प्रभारी निरीक्षक यशपाल सिंह के नेतृत्व में रविवार को जोगिया बारी के निकट दो तस्करों को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से 10 कछुआ बरामद किया गया । घटना मराजगंज जिले में कोन्हुई क्षेत्र की बताई जाती है।

मिली खबर के मुताबिक एसएसबी के उप निरीक्षक यशपाल सिंह को जरिए मुखबिर सूचना मिली की भारत से कोल्हुई के रास्ते नेपाल को कछुआ की तस्करी की जा रही है। दो तस्कर कछुआ लेकर नेपाल सीमा पर प्रवेश करने वाले हैं । इस सूचना पर उप निरीक्षक ने वन विभाग को भी सूचित किया ।वन विभाग एवं एसएसबी की संयुक्त टीम ने जोगिया बारी सीमा पर नेपाल जाने की कोशिश में लगे दो युवकों को हिरासत में ले लिया।

 टीम ने  उनके कब्जे से 10 कछुआ बरामद किया। गिरफ्तार युवक छेदीलाल पुत्र जयलाल एवं रवि पुत्र नकछेद निवासी मधवापुर महाराजगंज बताया जा रहे हैं । एसएसबी ने गिरफ्तार व्यक्तियों को कछुआ सहित वन विभाग को कानूनी कार्रवाई हेतु सुपुर्द कर दिया।बता दें कि इन कदुओं का उनयोग यौध वर्धक  दवा बनाने में प्रयोग किया जाता है। इसलिए इनकी अच्छी कीमत मिल जाती है।

कछुओं की तस्करी  धन से लेकर यौन वर्धक दवा में होता है प्रयोग।

 गौर तलब है कि धन, सुख-शांति, वास्तु से लेकर सेक्सवर्धक के तौर पर वन्य जीवों की तस्करी, भारत के संरक्षित वन्य जीवों के लिए बड़ा खतरा बन चुकी हैं और यूपी इन तस्करों का मुख्य अड्डा बनता जा रहा है। इन जीवों की तस्करी में सोशल मीडिया और इंटरनेट विलेन की भूमिका भी निभा रहे हैं। बता दें कि पिछले कुछ सालों से यूपी में एक खास किस्म के कछुओं की तस्करी जोरों पर है। यूपी से इन कछुओं की दुनिया भर में ऊंची कीमत के लिए तस्करी हो रही  है।

Leave a Reply