पंचायत चुनाव की रोचक, रोमांचक और दिलों को रुलाने वाली तीन खबरें

May 10, 2021 11:27 am0 commentsViews: 1053
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर।  चुनाव के दौरान रोचक और रोमांचक क्षण आते हैं। कोई दिल खेल कर हंसना चाहता है, मगर उसके पास ताकत नहीं होती।तो कोई रोना चाहिता है मगर आंखें साथ नहीं देती। कोई चुनाव लड़ता है मगर मतगणन परिणम में जीत की खबर से पहले ही उसकी मौत हो जाती है। परिजन नहीं समझ पाते कि हालात का मुकाबला कैसे करें। इस बार के चुनाव में भी कई ऐसे राचक रोमांचक क्षण आये और लाग कई बार भावुक भी होते दिखे। प्रस्तुत है ऐसे ही कुछ घटनाएं जो रोचक रामांचक होने के साथ हंसाने वाली और रुलाने वाली भी हैं।

गुड्डू चौधरी की मौत के बाद उनकी जीत की खबर आई

बांसी तहसील के ग्राम  नादांव निवासी 55 वर्षीय स्व. गुडृडू चौधरी ग्राम पचाायत बरगदवा से चुनाव लड़े थे।  चुनाव समाप्त हुए और मतगणना दो मई को शुरू होनी ही थी मगर इससे पूर्व वहां के सम्भ्रांत व्यक्ति और प्रधान पद के उम्मीदवार गुड्उू चौधरी की अचानक मौत हो गयी। वह काफी लोकप्रिय व्यक्ति थे और समाजसेवा में आगे रहा करते थे। मतदान के बाद दो जून को मतगणना शुरू हुई। शुरूआत से ही उनके जीत की ओर बढ़ने की खबरें आने लगीं। रात में उनकी जीत की घोषणा भी हो गई। यह समाचार जब गुड्उू चौधरी के घर पहुंचा तो वहां स्व. चौधरी की याद आते ही  घ्पर में पुनः रूदन क्रंदन शुरू हो गया। जो बड़ी मुश्‍किल से रोका जा सका। वैसे गांव वालों ने घोषणा की है कि आगे होने वाले उपचुनाव में वे लोग मिल कर उनकी पत्नी को निर्विरोध प्रधान बनाएंगे।

 रात में विजेता घोषित, सुबह प्रमाण पत्र कोई और ले गया

 बर्डपुर ब्लाक के क्षेत्र पंचायत वार्ड नंबर तीन से सदस्य प्रत्याशी शीला सोमवार की रात मतगणना संपन्न होने के बाद छह मतों से विजयी घोषित कर दिया गया। सम्बंधित प्रत्याशी की जीत का सन्देश लाउडस्पीकर पर आर ओ द्वारा कर दिया गया। प्रत्याशी ने मिठाइयों भी बांट लीं। लेकिन रात होने के कारण उन्हें सुबह को प्रमण पत्र देने को कहा गया।  मंगलवार को प्रमाण पत्र लेने पंहुची तो यहाँ पर उनकी निकटतम प्रतिद्धंदीं सावित्री को एक मतों से विजयी घोषित कर उन्हें प्रमाण पत्र भी सौप दिया गया। इस वार्ड से कुल 955 मत पड़े थे जिसमे 941 मत वैध 36 मत अवैध दिखये गए। जब की बिभाग की गिनती मे 977 मत आ रहें है। प्रत्याशी दिन भर ब्लॉक का चक्कर काटता रहा कोई फरियाद सुनने वाला ना था। अधिकारी भी कोई स्पष्टी करण नहीं दे रहे थे। अब पाठक समझ ही गये हेगे कि सच्चाई क्या थी।

पहले से तीसरे नम्बर के प्रत्याशी में मा़त्र एक एक मत का अंतर

सबसे दिलचस्प मुकाबला खैरी शीतल प्रसाद में देखने को मिला। यहां प्रधान पद के तीन उम्मीदवारों में कड़ा संघर्ष था। किसी को कोई अनुमान नहीं था कि कौन जीतेगा। मतगणना शुरू हुई और परिणाम आया तो लोग सन्न रह गये। तीनों उम्मीदवारों ने क्रम से एक-दूसरे से एक-एक मत कम पाए। शिवकुमार ने 265 मत पाकर जहां जीत दर्ज किया। वहीं दूसरे स्थान पर रहने वाले राजेंद्र को कवजेता से एक मत कम अर्थात 264 मत मिले। इसी प्रकार तीसरे स्थान पर रहे रामविलास ने 263 मत प्राप्त किया जो द्धितीय स्थान पर रहे राजेन्द्र से एक वोट कम था। है न रोचक रोचक संयोग की पहले दूसरे और तीसरे नम्बर पर रहने वालों को एक दूसरे से एक एक वोट कम मिले।

 

 

 

(1000)

Leave a Reply


error: Content is protected !!