कपिलवस्तु सीटः सपा के विजय पासवान को कड़ी टक्कर देने की फिराक में भाजपा

February 16, 2017 5:26 PM0 commentsViews: 775
Share news

नजीर मलिक

kapilvastu

सिद्धार्थनगर। पिछले चुनाव में सपा से प्रत्याशी बनकर अचानक चुनाव में उतरे विजय पासवान ने भाजपा को पूर्वांचल में सबसे करारी शिकस्त दी थी। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को ३८ हजार वोटों से हरा कर तहलका मचा दिया था। पासवान की इस विशाल लीड को खत्म करने के लिए भाजपा में विशेष रणनीतियां बनाई जा रही हैं।

२०१२ के चुनाव में समाजवादी पार्टी के विजय पासवान ने व्यापार से राजनीति के क्षेत्र में पदापर्ण कर पहले ही झटके में ७८३४४ वोट झटक लिया था। भाजपा ने उनके मुकाबले पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीराम चौहान को उतरा था। उन्हें कुल ४१४७४ मत ही मिल सके थे। दोनों के बीच ३७ हजार मतों के इस अंतर को पाटना भाजपा की चुनौती है।

इस बार राही हैं मुकाबले में

भारतीय जनता पार्टी ने इस बार श्रीराम चौहान के जगह हिंदू युवा वाहिनी के नेता श्यामधनी राही को उम्मीदवार बनाया है। श्यामधनी राही हिंन्दुत्व की राजनीति करते रहे हैं। इस वर्ग में वह लोकप्रिय भी हैं, लेकिन सामान्य मतों को अपने पक्ष में कितना मोड़ सकेंगे, यह वक्त ही बतायेगा।

श्यामधनी राही संसाधनों के मामले में सपा उम्मीदवार से कमजोर दिखते हैं, लेकिन मानव संसाधन के मामले में उन्हें राजपूतों का भरपूर समर्थन हैं। उनके पास लोधी और अन्य पिछड़ी जातियां हैं तो विजय पासवान के पक्ष में २६ फीसदी मुस्लिम और यादवों का जबरदस्त समर्थन है।

ले दे कर राही की जीत की संभावनाएं तभी बनेंगी जब ब्राहमण मतदाता का पूरा सपोर्ट भारतीय भारतीय जनता पार्टी को मिलेगा। यह मतदाता वर्ग इस क्षेत्र में बेहद महत्वपूर्ण है। वह जिधर झुका, उधर का पलड़ा भारी हो जाएगा। इसी लिए दोनों प्रत्याशी इस वर्ग का समर्थन पाने के लिए  पूरा जोर लगाये हुए हैं।

जगदम्बिका पाल बोले

इस बारे में सदर सांसद जगदम्बिका पाल का कहना है कि हमने हर बूथ पर भाजपा के कैडर तैयार किये हैं। इसके साथ प्रधानमंत्री मोदी जीे के विकास कार्य को  जनता में सराहना मिल रही है। सो इस बार कोई वजह नहीं कि हम कपिलवस्तु सीट न जीत सकें। प्रदेश भार में हम जीतने जा रहे हैं।

विधायक विजय ने कहा

जहां तक विधायक विजय पासवान का सवाल है, उनका कहना है कि  मोदी राज में जनता मंहगाई व नोटबंदी का फल भुगत रही है। जबकि समालवादी पार्टी का काम बोल रहा है। जनता नफरत फैलाने वालों को को  समर्थन कभी नहीं देगी। हम फिर जीतेंगे अौर प्रदेश में सपा की सरकार बनेगी।

 

Leave a Reply