श्याम महोत्सवः शोहरतगढ़ में काफी धूमधम से निकली खाटू श्याम की निशान यात्रा

March 20, 2020 1:45 pm0 commentsViews: 113
Share news

निजाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। स्थानीय  कस्बा स्थिति श्रीराम जानकी मंदिर से श्याम महोत्सव की निशान यात्रा गाजे बाजे के साथ बड़े ही धूमधाम से निकली। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं विशेष कर मारवाड़ी समाज ने भाग लिया। इस अवसार पर अनेक कार्यक्रम भी आयोजित हुए। सभी ने श्री खाटू श्याम से मनौतियां भी मांगीं।

निशान यात्रा से पूर्व पंडित टिल्लू शर्मा ने विधि विधान से खाटू श्याम बाबा व निशान ध्वज की पूजा अर्चना की।निशान यात्रा यहां से निकलकर धर्मशाला, गोलघर,  सोनारी मोहल्ला होते हुए श्रीराम जानकी मंदिर पहुंची। यात्रा मे खाटू वाले श्री श्याम बाबा की झांकी निकली।आगे आगे हाथी-घोड़ों की सवारी चल रही थी।महिलाएं और नवयुतियां हाथ मे निशान (ध्वज)लेकर अबीर-गुलाल उड़ाते हुए श्याम बाबा के गीत गातीं रही।वहीं श्याम भक्त मंडली के नवयुवक बाबा की भक्ति मे झूमते गाते रहे।

बाबा की भक्ति मे डूबकर यात्रा मे लोग शामिल होते गये।यात्रा से पूरा नगर भक्तिमय हो गया।भक्त मंडली द्वारा जगह ठंडा का वितरण किया गया।यात्रा मे आगे आगे चल रहे गणेश रूपी हाथी को केला खिलाते रहे।यात्रा को सकुशल संपन्न कराने को लेकर शोहरतगढ थानाध्यक्ष मय फोर्स के साथ दिखे। इस दौरान तहसीलदार राजेश अग्रवाल, नगर अध्यक्ष बबिता कसौधन, शिवकुमार अग्रवाल, राजेंद्र बोरा, विष्णु बबूना, सतीश मित्तल, मनोज पोद्बार, कृष्ण कुमार अग्रवाल, मुकेश पोद्बार, गोपी रूंगटा, सोनू,  सौरभ गुप्ता, उमा अग्रवाल, खुशबू पोद्बार, मीना बबूना, रेनू मित्तल, मीनाक्षी शर्मा, निर्मला पोद्बार, रूपम अग्रवाल, निशा वर्मा, पिंकी कौशल आदि मौजूद रहे।

खाटू नरेश के अनन्य भक्त व युवा व्यवसायी मयंक पोद्दार बताते हैं बाबा की कृपा से ही आज वह इस  मुकाम पर हैं। उनका आशीर्वाद हमेशा से ही उनके साथ है। मयंक का मानना है कि हिन्दू धर्म के अनुसार, खाटू श्याम जी कलियुग में श्री कृष्ण से वरदान प्राप्त किया था कि वे कलयुग में उनके नाम श्याम से पूजे जाएँगे। श्री कृष्ण बर्बरीक के महान बलिदान से काफ़ी प्रसन्न हुए और वरदान दिया कि जैसे-जैसे कलियुग का अवतरण होगा, तुम श्याम के नाम से पूजे जाओगे। तुम्हारे भक्तों का केवल तुम्हारे नाम का सच्चे दिल से उच्चारण मात्र से ही उद्धार होगा। यदि वे तुम्हारी सच्चे मन और प्रेम-भाव से पूजा करेंगे तो उनकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी और सभी कार्य सफ़ल होंगे।

 

 

(36)

Leave a Reply


error: Content is protected !!