किसान विधेयक अत्यंत क्रांन्तिकारी और ऐतिहासिक- सांसद पाल

October 20, 2020 3:19 pm0 commentsViews: 63
Share news

अमित श्रीवास्तव

मिश्रौलिया, सिद्धार्थनगर। डुमरियागंज के सांसद जगदम्बिका पाल ने बाँसी विधानसभा क्षेत्र के मउ उत्तरी में आयोजित किसान गोष्ठी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हुए किसान विधेयक को ऐतिहासिक और क्रांतिकारी बताया है। आज किसान अपने फसल को देश और प्रदेश के किसी कोने में लाइसेंसी व्यापारियों को अच्छे दामों में भी बेच सकता है इस बिल में एमएसपी पर पहले की तरह खरीददारी का प्रावधान रखा गया है।

इस अवसर पर सांसद पाल ने कहा कि इस विधेयक में मंडियों को यथावत रखने का प्रावधान किया गया है। किसानों को पूर्ण रूप से स्वतंत्रता प्रदान की गई है और बिना कोर्ट कचहरी जाए स्थानीय स्तर पर विवादों को निपटाने की व्यवस्था बनाई गई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत कृषि कोष के लिए एक लाख करोड़ रुपए का आवंटन के अलावा पैकेज में किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का प्रावधान किया गया है।

उन्होंने कहा कि मोदी जी की सरकार ने अनेक योजनाओं के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी करने के लिये कदम उठाए हैं। पाल ने कहा कि आज जिस प्रकार से समूचा विपक्ष किसानों को भ्रमित करने का कार्य कर रहा है अब इस देश का किसान समझ  चुका है कि इस ऐतिहासिक सुधार विधेयक बिल पारित होने से किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। जिसका सीधा लाभ किसानों को मिलेगा। पाल ने कहा कि यह विधेयक किसानों को 3 दिन में भुगतान की गारंटी देता है अब इस विधेयक के पारित होने के बाद बिचौलियों का काम खत्म हो गया है। अब किसान सीधे अपने फसल को मंडियों में बेच सकता है।

इस अवसर पर सांसद पाल के साथ मउ उत्तरी गांव के ग्राम प्रधान भानू प्रताप निषाद, छतवा गांव के ग्राम प्रधान बालकेश्वर निषाद, हरीश निषाद, बहराइची निषाद, मलखान यादव, हरीश चंद्र गुप्ता, रामचंद्र, मुकेश मनोज, अजय तिवारी, भोला, राम मोहन मिश्रा, घनश्याम गुप्ता, लाल जी यादव, जितेंद्र, सुभाष निषाद आदि लोग उपस्थित रहे।

(58)

Leave a Reply


error: Content is protected !!