वापस ली जाएगी तीन हजार किसान सम्मान निधि, किसानों को नोटिस जारी

May 11, 2022 12:35 pm0 commentsViews: 1040
Share news

2619 किसान अपात्र होने के बाद भी ले रहे थे सरकारी अनुदान अब किसानों को हर हाल में 1.57 करोड़ रुपये करने होंगे वापस

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। तथ्य छुपाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि लेने वाले किसानों से अब पूरे पैसे की रिकवरी होगी। धनराशि सरकार के खाते में वापस नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी। जिले में ऐसे 2619 किसान चिन्ह्ति हुए हैं जो सरकार को टैक्स दे रहे हैं और किसी न किसी सरकारी सेवा में हैं। इन लोगों ने एक दो नहीं, बल्कि पांच किश्त तक सम्मान निधि लिया है। कृषि विभाग की ओर से 1.57 करोड़ रुपये की रिकवरी के लिए किसानों को नोटिस जारी की गई है। आगे भी छानबीन जारी रहेगी।

केंद्र की मोदी सरकार किसानों को आर्थिक सहायता के लिए उन्हें किसान सम्मान निधि देने की योजना चला रही है। इसमें योजना में शामिल किसानों को तीन किश्तों में प्रति वर्ष छह हजार रुपये देती है। यह धनराशि किसानों के बैंक खाते में सीधे भेजा जाता है। एक दिसंबर 2018 से केंद्र सरकार की यह योजना चल रही है। इसमें एक साथ किसानों से आवेदन मांगा गया और उनका चयन किया गया था। लेकिन योजना के लाभ पाने के लिए लोगों ने तथ्य छुपाया और वह सरकार को कर देते हैं, लेकिन फिर सम्मान निधि ले रहे हैं। इस प्रकार के मामले में सामने आने के बाद ऐसे लोगों की जांच और उनसे रिकवरी करते हुए सरकारी खाते में धनराशि जमा करने का निर्देश हुआ था।

कृषि विभाग की ओर से की गई जांच में अब तक 2619 किसान ऐसे में मिले हैं जो पात्र नहीं हैं। करदाता हैं और सरकारी सेवा में हैं। उसके बावजूद सम्मान निधि का लाभ ले रहे थे। इनमें एक से लेकर पांच किश्त तक धनराशि पा चुके हैं। लगभग 1.57 करोड़ रुपये यह लोग ले चुके हैं, जो रिकवरी होना है। धन की रिकवरी के लिए कृषि विभाग ने चिन्ह्ति किसानों को नोटिस जारी कर दिया है। उन्हें नोटिस के जरिए कहा गया है कि वे अपनी स्वेच्छा से धनराशि कृषि विभाग सरकारी खाते में वापस कर दें। अगर ऐसा नहीं करते हैं तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जिले में इतने किसान पा रहे हैं सम्मान निधि

जनपद कृषि पर आधारित है। यहां पर 80 प्रतिशत आबादी खेती पर निर्भर है और किसान करते हैं। सवा दो लाख हेक्टेयर भूमि पर खेती होती है। माध्यम वर्गीय किसान अधिक हैं। पीएम सम्मान निधि की बात करें तो जिले में 3.76 लाख किसान पंजीकृत हैं जो योजना का लाभ ले रहे हैं।

अब तक पौने 12 लाख रुपये वापस करा चुका है विभाग

विभाग से मिले आकड़ों के मुताबिक लगभग 200 किसानों से नौ लाख रुपया केंद्र सरकार के कोष में जमा कराया गया है। साथ ही 2.76 लाख रुपये शासन की ओर से कृषि विभाग की जारी खाते में किसान वापस कर चुके हैं। आगे  बाकी धन कीरिकवरी का काम जारी है। खबर हैकि इस प्रकसर के अपात्रों की खोजबीन ओ भी जारी रहेगी।

क्या बोले उपकृषि निदेशक

इस मामले में उपकृषि निदेशक सिद्धार्थनगर ए.के. विश्वकर्मा ने बताया कि  पात्र न तो होते हुए भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ लेने वालों से धन की रिकवरी की प्रक्रिया चल रही है। 2619 लोग ऐसे चिन्ह्ति किए गए हैं जो करदाता हैं। इसके अलावा सरकारी सेवा में हैं और सरकार की ओर से जारी पात्रता श्रेणी में नहीं हैं। इसके बाद भी लाभ ले रहे हैं। इन सभी को नधि लौटाने की नोटिस जारी कर दी गई है। अगर धनराशि वापस नहीं की गई तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

 

(1046)

Leave a Reply


error: Content is protected !!