महाविद्यालय में भ्रटाचार की सिद्धार्थ यूनीवर्सिटी कुलपति से शिकायत, जांच की मांग

September 17, 2018 12:57 PM0 commentsViews: 942
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। सिद्धार्थ महाविद्यालय प्रशासन पर उसी विद्यालय के छात्र सुशील मिश्रा ने भ्रष्टाचार के कई गंभीर आरोप लगाये हैं। उन्होंने सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु के कुलपति को पत्र दे कर मामले की जांच की मांग की है।

अपने पत्र में सुशील मिश्रा ने कहा है कि वह  सिद्धार्थ महाविद्यालय बर्डपुर सिद्धार्थनगर से सत्र 2018- 19 बी. ए. द्वितीय वर्ष का व्यक्तिगत (प्राइवेट) छात्र है। वह गत 30अगस्त को  महाविद्यालय में प्रवेश/परीक्षा फार्म भरने हेतु गया तो कार्यालय अधीक्षक द्वारा प्रार्थी से पांच हजार पांच सौ रुपये परीक्षा शुल्क की मांग की गई।  जब प्रार्थी ने इस संबंध में प्रबंधक से विश्वविद्यालय द्वारा विहित व्यक्तिगत छात्र का परीक्षा शुल्क  2361रु- का हवाला देते हुए आपत्ति की गई तो तब कार्यालय अधीक्षक एवं प्रबंधक नाराज होते हुए कहा कि परीक्षा फार्म भरना है तो कम से कम 4500/-(चार हजार पांच सौ रुपया) परीक्षा शुल्क व 100/- फार्म का देना होगा इससे कम नहीं होगा।

दोनों लोगों ने  यह भी कहा कि “जहां चाहो शिकायत करो कोई फर्क नहीं पड़ता है। हमें नीचे से ऊपर तक व्यवस्थित करना होता है। कॉलेज हमारा है हम जैसे चाहेंगे संचालित करेंगे।” प्रार्थी मजबूर होकर ₹ 4500/- परीक्षा शुल्क व 100 रु फार्म का कुल चार हजार छः सौ रूपया जमा करके प्रवेश/परीक्षा फार्म सम्मिलित किया। प्रार्थी द्वारा रसीद मांगने पर प्रबंधक एवं कार्यालय अधीक्षक  द्वारा इंकार कर दिया गया। काफी मिन्नतों के बाद प्रवेश/परीक्षा फार्म की पावती रसीद पर ही रुपया  4500  प्राप्त करने की बात लिख दी गई।

अंत में सुशील मिश्रा ने कुलपति से अनुरोध किया है कि  सिद्धार्थ महाविद्यालय द्वारा किए गए असामान्य व्यवहार व अवैध वसूली के से वह काफी आहत है। उतएव प्रबंध के इस अवैध और गैरकानूनी काम की जांच कर उनकों दंडित करने का काम छात्रहित में जरूरी हो गया है।

 

 

Leave a Reply