जंगल की लकड़ी चिराने पहुंचे वनदरोगा को भाजपा नेता ने पकड़ा, चकमा देकर भागे दारोगा जी

June 19, 2020 1:38 pm0 commentsViews: 398
Share news

शिव श्रीवास्तव

आरा मशीन पर खड़े पीड़ित युवक राजमणि और भाजपा नेता योगेन्द्र यादव

बृजमनगंज, महराजगंज। बृजमनगंज क्षेत्र में एक आरा मशीन पर बुधवार शाम एक वनदारोगा पर कथित रूप से चोरी की लकड़ी चिराने का आरोप लगा। मामले में हो हल्ला मचने जब कुछ नेता मौके पर पहुंचे और उन्हें पकड़ा तो वन दारोगा ली वहां से भाग निकले। फिलहाल इस घटना की क्षेत्र में बहुतचर्चा है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है और चन दारोगा को दूसरे कार्यक्षेत्र में अटैच कर दिया गया है।

बताया जाता है कि बृजमनगंज क्षेत्र की एक एक आरा मशीन पर गत दिवस एक युवक द्वारा जलौनी लकड़ी चिरायी जा रही थी, तभी वहां पर वन दारोगा अनिल सिंह सागौन की लकड़ी ले कर चिराने के लिए पहुंचे और बोले सबका काम छोड़ दो पहले हमारी लकड़ी की चिराई करो। बन दारोगा ने वहां मौजूद जलौनी लकड़ी देख पूछा ये किसकी लकड़ी है? जिस पर वहां मौजूद युवक राजमणि निवासी सौरहा ने अपनी बताया।

बताते हैं इस पर वन दरोगा ने राजमणि से पांच सौ रुपया की मांग की। युवक द्वारा रुपया देने से इनकार करने पर वन दरोगा ने राज मणि से बदसलूकी किया। युवक द्वारा सारी बात स्थानीय जनप्रतिनिधि व भाजपा नेता योगेंद्र यादव को बताया।

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे योगेंद्र यादव ने वन दरोगा से पूछताछ शुरू किया, तभी वहां से वन दरोगा फरार हो गए। लोगों द्वारा इसकी सूचना थानाध्यक्ष को दी गयी। मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने आरा मशीन मालिक से पूछताछ किया, जिसमें वन दारोगा की लकड़ी होने की पुष्टि की गई। देर रात रेंजर डीएन पांडेय ने आरा मशीन पर पहुंच कर 39 नग चिरान लकड़ी को जब्त किया।

डीएफओ अविनाश कुमार ने बताया कि वनदारोगा को ख़ुर्रमपुर चौकी से हटा कर तिलकोनिया से अटैच कर स्पष्टीकरण तलब किया गया है। डीएसओ एएन मौर्या व वन रेंजर डीएन पांडेय को जांच कर रिपोर्ट देने को कहा गया है।  

(368)

Leave a Reply


error: Content is protected !!