आठ पुलिस वालों की शहादत की खबर के बाद पूर्व विधायक लालजी का धरना स्थगित

July 4, 2020 2:09 pm0 commentsViews: 237

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। विकास खंड बांसी के एक प्रधान को फर्जी मुकदमे में जेल भेजने , एस डी एम व कोतवाल पर मनमानी करने व प्रवासी मजदूरो को सरकार द्वारा घोषणा की गयी योजनाओ का लाभ न देने का आरोप लगाते हुए पूर्व विधायक लालजी यादव की अगुवाई में समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता तहसील कार्यालय पर बृहस्पतिवार की देर शाम अनिश्चित कालीन धरने पर बैठ गये । लेकिन कानपूर में आठ पुलिस कर्मियों की शहादत और एक दर्जन के घायल होने की खबर के बाद  दूसरे दिन उन्होंने मानवीय आधार पर धरने को स्थगित कर दिया।

धरने की अगुवाई कर रहे सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक लालजी यादव ने कहा कि तहसील प्रशासन व पुलिस पूरी तरह मनमानी कर रही है । गरीबों व समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओ को को परेशान किया जा रहा है । इनकी कार्यशैली का विरोध करने वालो को फर्जी मुकदमे में जेल भेजा जा रहा है । उन्होने कहा कि सभी  प्रवासी श्रमिकों को दिए जाने वाली राहत सामग्री , रोजगार सहित अन्य योजनाओं का लाभ नहीं दिया जा रहा है । इसमे काफी गड़बड़झाला है।

पूर्व विधायक  लाल जी यादव ने कहा कि कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की शहादत की घटना दिल को द्रवित कर देने वाली है। हुई घटना से मन काफी द्रवित हो गया है इस लिए धरने को स्थगित करने कि घोषणा कर रहा हूं । कुछ दिनों बाद इन अधिकारियों की मनमानी के खिलाफ व श्रमिकों को न्याय दिलाने के लिए धरना दिया जाएगा । धरने में नपा अध्यक्ष मों इद्रीश पटवारी ,  अम्बिकेश श्रीवास्तव नि. जिला अध्य्क्ष समाजवादी छात्र सभा, कार्यवाहक अध्य्क्ष अमित बक्शी, पिछड़ा वर्ग के नि.अध्य्क्ष धीरू यादव, रामदेव निषाद, वीरेंद्र चौबे, विनय वर्मा,  यादव,गंगा यादव  आदि सपा नेता शामिल रहे।

(217)

Leave a Reply