जिलाधिकारी संजीव रंजन ने पशुओं में लम्पी बीमारी की रोकथाम के लिए बैठक की

September 1, 2023 5:49 PM0 commentsViews: 678
Share news

अजीत सिंह 

अपर मुख्य सचिव (पशुधन) उत्तर प्रदेश शासन के निर्देश जनपद सिद्धार्थनगर में पशुपालन विभाग द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी संजीव रंजन की अध्यक्षता में गोवंश में लंपी स्किन डिजीज की मिशन मोड में रोकथाम हेतु जनपद स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. जीवन लाल ने लम्पी स्किन डिजीज पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस वर्ष जनपद में लम्पी स्किन डिजीज के टीका हेतु 20 हजार डोज निदेशालय से प्राप्त हुआ था, जिसमें से 16900 डोज पशुओं में टीकाकरण कर दिया गया है। शेष डोज आकस्मिक टीकाकरण हेतु सुरक्षित रखा गया है।

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. जीवन लाल ने बताया कि लम्पी स्किन डिजीज को लेकर विभाग पूरी तरह से संवेदनशील एवं सक्रिय है। अभी तक अपने जनपद में लंबी स्किन डिजीज की प्रमाणिकता नहीं सिद्ध हुई है। उसी लक्षण से संबंधित कुछ स्किन वर्म डिजीज भी होते हैं। कुछ जगहों पर सूचना मिलने पर क्षेत्रीय पशु चिकित्सा अधिकारी से जांच कराई गई तो स्किन डिजीज होने की बात सामने आई।

बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी संजीव रंजन ने सभी उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, खंड विकास अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी एवं नगर पालिका क्षेत्र के अधिशासी अधिकारी को निर्देशित किया कि अगर किसी भी क्षेत्र से लंपी स्किन डिजीज की सूचना मिलती है तो तत्काल उस क्षेत्र का भ्रमण टीम बनाकर किया जाए और पशु चिकित्सा की टीम तत्काल उस पशु का इलाज करें एवं पशुपालकों को लम्पी स्किन डिजीज के बचाव हेतु आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया जाए।

जिस क्षेत्र में इस तरह की सूचना प्राप्त होती है उस क्षेत्र को पूरी तरह से टीकाकरण युक्त किया जाए। जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी भनवापुर एवं इटवा को निर्देशित करते हुए कहा कि उनके क्षेत्र में गोवंश के सड़क पर घूमने की सूचना मिल रहे है उसको तत्काल टीम के साथ पकड़वाकर गौशाला पहुंचना सुनिश्चित करें।

कंट्रोल रूम के प्रभारी पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर प्रदीप कुमार हैं जिनका मोबाइल नंबर 8004132187 है। बैठक के अंत में पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ जे एल चौधरी सभी के प्रति आभार प्रकट करते हुए सभी को इस लंपी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए आगे कदम बढ़ाकर सहयोग करने की अपेक्षा की। उक्त जानकारी पशुधन प्रसार अधिकारी अरुण कुमार प्रजापति ने दी।

Leave a Reply