बिथरिया में दो दिग्गज समर्थकों के बीच संघर्ष, पुलिस तैनात, एक दर्जन को हिरासत में लेने के बाद छोड़ा गया

October 11, 2015 8:18 PM1 commentViews: 206
Share news

नजीर मलिक

maarpeet

डुमरियागंज के बिथरिया गांव में दो सियासी दिग्गजों  के समर्थकों के बीच जम कर मारपीट हुई। पुलिस ने इस सिलसिले में एक दर्जन लोगों को हिरासत में भी लिया, लेकिन बाद में सभी लोगों को सियासी दबाव में छोड़ दिया गया। घटना के बाद गांव में तनाव है। पुलिस को मौके पर तैनात कर दिया गया है।

रविवार दिन में बिथरिया गांव में बीडीसी उम्मीदवार व पूर्व विधायक स्व. मलिक तौफीक के भाई सईद मलिक और इसी गांव के पूर्व प्रमुख मलिक सगीर उर्फ बब्बर मलिक के भाई व बीडीसी उम्मीदवार तैयन मलिक के समर्थकों में जम कर मारपीट हुई।

एक घंटे तक चली मारपीट में अनेक चोटिल हुए। भवानीगंज पुलिस ने मौके पर पहुंच कर एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया। लेकिन बाद में दोनों पक्षों के बीच सुलह करा कर मामला खत्म कर दिया।

घटना के बारे में बताते हैं कि शनिवार को तैयन मलिक के समर्थक मलिक वहीद के लड़के अज्जू ने सईद समर्थक मलिक इलियास की पिटाई की थी। नतीजे में सईद समर्थर्कों ने आज मलिक तैयन को पीट दिया।

इसके बाद वहां दोनों पक्षों में जम कर मारपीट हुई। जिसमें दर्जन भर लोग चोटिल हो गये। इनमें से कई अस्पताल में हैं। जहां उनका इलाज हो रहा है।

घटना के बाद मौके पर भवानीगंज पलिस पहुंची और दोनों पक्षों के एक दर्जन लोगों को पकड़ कर थाने ले आई। बाद में उनके बीच सुलह करा कर मामला रफा दफा कर दिया गया।

इस बारे में सीओ डुमरियागंज ने बताया कि दोनों पक्षों में सुलह करा दी गई है। मौके पर पलिस तैनात है। स्थिति नियंत्रण में है। कोई तनाव जैसी बात नहीं है।

याद रहे कि डुमरियागंज में मौजूदा विधायक मलिक कमाल यूसुफ और स्व. विधायक मलिक तौफीक के घराने में चार दशक से सियासी लडाई चल रही है। वर्तमान में स्व. तौफीक की विरासत उनकी बेटी सैयदा मलिक के हाथ है। यहां के एक बीडीसी उम्मीदवार सईद मलिक उनके चाचा हैं।

समाचार लिखे जाने तक गांव की हालत नियंत्रण में है। लेकिन यहां खूनी संघर्ष की आशंका बनी हुई है। पूरे इलाके में पुलिस के समझौतावादी रुख पर अंगुलियां उठ रही हैं।

1 Comment

Leave a Reply