इतिहास बदल कर पदमावती का अपमान करने वाले भंसाली को समाज माफ नहीं करेंगा– क्षत्रिय महासभा

November 25, 2017 4:27 PM0 commentsViews: 284
Share news

अजीत सिंह

सिद्धार्थनगर। अखिल भरतीय क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष माधव सिंह के नेतृत्व में पदमावती फिल्म के प्रसारण पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर  क्षत्रिय महासभा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को  ज्ञापन दिया। जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू के माध्यम से दिये ज्ञापन में कहा गया है कि फिल्मकार संजय लीला भंसाली ने इतिहास से छेड़ छाड़ कर महारानी पदमावती का अपमान किया है, जिसे समाज कभी माफ नही करेगा।

कलेक्ट्रेट परिसर में ज्ञापन से पूर्व लोगों को संबोधित करते हुए क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष माधव सिंह ने कहा कि फिल्म में महारानी पदमावती और अलाउद्दीन खिलजी के बीच जो प्रेम प्रसंग दर्शाया गया है, वह झूठा एंव मनगढ़ंत है। फिल्मकार संजय लीला भंसाली ने राजपूत ही नहीं सम्पूर्ण नारी जाति  का अपमान किया है। यह निंदनीय और दंडनीय है।

उन्होंने कहा कि अगर फिल्म को पूर्ण रूप् से प्रतिबंधित नहीं किया गया तो क्षत्रिय समाज इसे सहन नहीं करेगा। अगर इस विवादास्पद फिल्म की रिलीज रोकी न गई  तो क्षत्रिय समाज अन्य वर्गों को साथ लेकर नारी सम्मान के लिये सड़कों पर उतरने को बाघ्य होगा, जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

ज्ञापन देने वालों में  विजय सिंह, भूपेन्द्र सिंह, विनय सिंह, रणवीर सिंह, जयगोविंद यादव, अविनाश सिंह, गिरजेश बहादुर सिंह, अनिल सिंह, मनोज सिंह, राहुल सिंह, अरूण सिंह, आर पी सिंह, उदय सिंह, राकेश सिंह, विपिन सिंह, जगदम्बा सिंह, शिवपूजन सिंह, सत्य प्रकाश सिंह, अविनाश सिंह, धर्मेंद्र, अजय, मानबहादुर सिंह सहित कई दर्जन लोग मौजूद रहे।

 

Leave a Reply