मौत का फंदा चूमने तक साथ–साथ रही शराब की बाटल

August 7, 2017 4:23 PM0 commentsViews: 260
Share news

अमित श्रीवास्तव

मिश्रौलिया, सिद्धार्थनगर। शराब से उसे बहुत मुहब्बत थी। इतनी थी कि मौत को गले लगाते वक्त भी वह शराब से अपने को अलग नहीं कर सका और जब उसने फांसी के फंदे को  चूमा तो भी उसके पाकेट में शराब कर बाटल थी। घटना बीती रात मुकामी थाना के मनिकर गांव में घटी। जहां 27 साल के विशाल पुत्र चीनक ने – गले में ऱस्सी डाल कर  छत के कुंडे से लटक कर जान दे दी। हैरत की बात यह थी कि मरते समय उसने शराब का दामन नहीं छोड़ा।

सुबह जब परिजन विशाल को जगाने गये, तो वह रस्सी के सहारे लटका मिला, जिसकी सूचना मुकामी पुलिस को दी गई। मौके पर आई पुलिस जांच कर लाश कब्जे में लेकर पी. एम. के लिये ले गई।

मिली जानकारी के मुताबिक विशाल काफी दिनों से शराब की लत का शिकार था। प्रायःनशे में धुत रह कर वह अपनी पत्नी को मारता -पीटता  था।  उसकी इस आदत से पत्नी समेत पूरे घर वाले बेहद परेशान थे। बताया जाता है कि घटना की रात भी उसकर परिजनों से इसी बात पर विवाद हुआ था। उसके नशे में धुत हो कर आत्महत्या की आशंका जताई जा रही है।

खबर के अनुसार विशाल रात में खाना खाकर घर के बरामदे में ही सो गया। सुबह उसकी पत्नी ने कुडे से उसकी लाया लटकते देखा तो उसके होश उड गये। हैरत की बात यह थी कि उसकी लाश उतारी गई तो जेब सेशराब की बाटल बरामद हुई।इस बरे में थाना प्रभारी रणविजय सिंह का कहना है कि लाश कब्जे में लेकर जांच की जा रही। लाश पी. एम. भेजी जा रही है, पी. एम. रिपोर्ट आने के बाद मामला स्पष्ट हो जायेगा।

बताते चलें कि विशाल अपने अपने पिता का इकलौता पुत्र था। वह अपने पीछे पत्नी व तीन पुत्रियों को छोड़ गया है।इस हादसे से उसकी तीनों बेटियां अनाथ हो गई हैं। घटना से गांव में शोक का माहौल है। लोग घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं कर रहे हैं।

Leave a Reply