सेक्स स्कैंडल से जुड़े है दलित बालक जीतेन्द्र की हत्या के सूत्र, पुलिस बता रही आपसी रंजिश

May 1, 2018 5:48 pm0 commentsViews: 1117
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। जिले के मोहाना थाने के के गांव नौडिहवा में  दलित बालक की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने गांव के ही पांच लागों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है, लेकिन तहरीर के आधार पर गांव के दो लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा लिखने को गांव वाले पचा नहीं पा रहे हैं। उन्हें घटना में एक नया एंगल भी दिखाई पड़ रहा है, लेकिन पुलिस उस पहलू को  नजरअंदाज करने पर पर तुली है।

नौडिहवा गांव के मृत बालक के पिता तौलन की तहरीर आधार पर मोहाना थाने की पुलिस ने तौलन के  5 विरोधियों  के खिलाफ मुकदमा तो जरूर दर्ज कर लिया, मगर  पुलिस ने गांव में तिैर रही उस एक अन्य कहानी को छोड़ दिया जो गांव में तैर रहीं है। गांव वालों के मुताबिक यही कत्ल की असली वजह हो सकती है। लेकिन पुलिस पसीना बहाने के बजाये तहरीर के आधार पर मामले को खत्म करने पर तुली है।

बताया जा रहा कि रविवार को आई आंधी के दौरान मृतक दस साल के जितेन्द्र ने जिस स्थान पर पनाह ली, वहां एक युवक और युवती सेक्स का खेल खेल रहे थे, जिसे जीतेन्द्र ने देख लिया और इस पर प्रेमी युगल ने जीतेन्द्र का गला दबा कर उसेक पड़ोस के पोखरे में फेंक दिया। चूंकि जीतेन्द्र के पिता तौलन से गांव के एक चौधरी परिवार से कुछ दिन मामूली विवाद हुआ था, लिहाजा पुलिस को पहला शक उसी पर गया और पीड़ित पक्ष से तहरीर लेकर उस परिवार के पांच लोगों को मुलजिम बना दिया गया।

गांव वाले बताते हैं कि तौलन से मामूली विवाद पर चौधरी परिवार द्धारा उसके बेटे को मार देना अस्वाभाविक है, लिहाजा पुलिस को आशनाई की घटना पर गौर करना चाहिए था, लेकिन उसने ऐसा न कर मामले को पुरानी रंजिश का रंग देकर केस को खतम करने का आसान नुस्खा मिल गया। गांव वालों के अनुसार पुलिस अगर मामले की गंभीरता से जांच करे तो सेक्स के मामले में एक बडा चेहरा सामने आयेगा।

बताते चलें कि गत रविवार की शाम तौलन के भाई के घर शादी थी। उसी दिन शादी के समय आई। आंधी के समय तौलन का दस साल का बेटा जीतेन्द्र समारोह से गायब हो गया था। सोमवार को सुबह उसकी लाश गांव के बाहर पोखरे में मिली थी। इस घटना को लेकर क्षे़ में पुलिस की कार्य प्रणाली पर अंगुलियां उठ रही हैं।

 

 

 

 

(775)

Leave a Reply


error: Content is protected !!