मायावती की सभा में तीन सीटों के उम्मीदवारों ने जुटाई ताकत

February 22, 2017 7:03 pm0 commentsViews: 1211
Share news

अजीत सिंह

m11

सिद्धार्थनगर। आज यहां जिला हेडक्वार्टर पर हुयी मायावती की रैली ने जिले की पांच सीटों पर उनके उम्मीदवारों की पोजिशन का संकेत दे दिया है। रैली में उपस्थित भीड़ का जायजा लेने के दौरान बांसी और सदर सीट पर बसपा कमजोर दिखी। जबकि डुमरियांगंज, शोहरतगढ़ और इटवा में भाजपा जबरदस्त मुकाबले में दिखती प्रतीत होती है।

कपिलवस्तुः वोट बसपा को, मगर लड़ाई सपा भाजपा की

कपिलवस्तु पोस्ट का रिपोर्टर रैली स्थल तक रिक्शे पर गया। रामधार नाम के रिक्शे वाले ने बताया की वह वोट तो बसपा को ही देगा, म्रगर यहां लड़ाई सपा भाजपा की है। पूंछने पर उसने बताया की बहन जी ने कमजोर उम्मीदवार उतारा है। बहन जी पुराने उम्मीदवार को उतारतीं तो वह जीत जाता।

रामाधार चलाता तो रिक्शा है, लेकिन उसकी समीक्षा सटीक लगी। क्योंकि जानकार भी सदर यानी कपिलवस्तु सीट पर बसपा को लड़ाई से बाहर मान रहे हैं। यहां निष्पक्ष टीकाकारों के मुताबिक सपा और भाजपा में सीधी लड़ाई है। दरअसल यहां बसपा उम्मीदवार जंग जीतने के लिए नहीं बल्कि चुनावी फार्मेलिटी पूरा कर रहे हैं।

बांसी में अकेला पड़ा उम्मीदवार

मायावती की सभा में बांसी सीट के लोगों की तादाद कम थी। दरअसल मैनेजमेंट की कमी व अन्य कारणों से यहां के कम लोग रैली में पहुंचे। दरअसल बांसी में बसपा के उम्मीदवार लाल चंद निषाद अकेले पड़ गये दिखते हैं। बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और बड़े बसपा नेता पीआर आजाद बांसी के रहने वाले हैं, मगर उनकी ड्यूटी दूसरी जगह लगा दी गई है।

निषाद वास्तव में बाहर के आदमी हैं। उनकी मदद में केवल बसपा अध्यक्ष शेखर आजाद लगे हैं। हालांकि लालचंद निषाद लड़ाई में दिखते हैं, लेकिन उत्साह और आर्थिक संसाघानों की कमी के चलते उनकी चुनावी रफ्तार तेज नहीं हो पा रही है।

तीन सीटों के उम्मीदवारों ने पाट दिया सभा स्थल

सिद्धार्थनगर में मायावती की सभास्थल पर जुटी लगभग २० हजार की भीड़ का बड़ा हिस्सा दरअसल डुमरियांगेज की बसपा उम्मीदवार सैयदा मलिक, इटवा उम्मीदवार अरशद खुर्शीद व शोहरतगढ़ उम्मीदवार मो. जमील सिद्दीकी के समर्थन में आये हुए लोग थे। लोगों से बातचीत के मुताबिक वे अपनी सीटों पर सीधी लड़ाई में हैं।

सैयदा मलिक के समर्थन में रैली में आये सैयदा के समर्थक इकबाल कहते हैं कि डुमरियागंज में अब बसपा की जीत में कोई शक नहीं है। अन्य पार्टियां यहां दूसरे और तीसरे नम्बर के लिए लड़ रही हैं। इटवा के सौरभ पांडेय कहते हैं कि इस बार सपा विधानसभा अध्यक्ष हारेंगे। मुकाबला सपा बसपा के बीच है तो शोहरतगढ़ में लोगों के हौसले बुलंद हैं। इजहार अहमद कहते हैं कि लड़ाई सपा और भाजपा के बीच की है। इंशाअल्लाह जीत बसपा की होगी।

 

(3)

Leave a Reply


error: Content is protected !!