सनसनीः बहन समेत चार महिलाओ को त्रिशूल घोंप कर फरार हुआ भाई

September 2, 2018 12:25 pm4 commentsViews: 1121
Share news

 

… अस्पताल में जीवन और मौत की लड़ाई लड़ रहीं चारों महिलाएं

 

निजाम अंसारी

शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर। मुकामी थाना क्षेत्र के ग्राम नीबीदोहनी में भाई ने हलषष्ठी की पूजा कर लौट रही सगी बहन लक्ष्मी पर त्रिशूल से हमला कर दिया। बीच बचाव करने पहुंची ननद, सास समेत कुल चार लोगों को गंभीर रूप से घायल कर फरार हो गया।वह बहन को मरा जानकर ही घटनास्थल से भागा। इस घटना से शोहरतगढ़ टाउन में सनसनी छाई हुई है। घटना की वजह बहन लक्ष्मी द्धारा प्रेम विवाह बताया जाता है

प्रेम विवाह करने से नाराज भाई ने बहन को मृत जानने के बाद ही हमला करना बंद किया था। घायल महिलाओं नाम लक्ष्मी (22), उसकी सास प्रभावती देवी (55), ननद बीना चौरसिया (24) व सीमा (22) है। आरोपित भाई का नाम महेंद्र पटवा है। घटना शनिवार सुबह करीब दस बजे की है। घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

बताया जाता है कि शोहरतगढ़ टाउन के नीबीदोहनी में सुबह करीब दस बजे हलषष्ठी की पूजा कर लौट रही महिलाओं पर महेंद्र पटवा ने त्रिशूल से हमला कर दिया। बहन के प्रेम विवाह करने से हमलावर नाराज था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आरोपित ने पहले बहन लक्ष्मी पर त्रिशूल से वार किया। जब तक लोग कुछ समझते कई वार कर दिए थे। उसे बचाने का प्रयास कर रही ननद बीना चौरसिया को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। दूसरी ननद सीमा व सास प्रभावती देवी पर त्रिशूल से वार किया। बहन व ननद को मृत जान वह वहां से फरार हुआ। लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। घायलों को सीएचसी पहुंचाया, जहां स्थिति गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

इस संबंध में एसओ शोहरतगढ़ रणधीर कुमार मिश्रा ने कहा कि भाई ने बहन व ससुराल पक्ष के लोगों पर हमला किया है। घायल महिलाओं का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। परिजनों की तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

थाना क्षेत्र के ग्राम नीबीदोहनी निवासी लक्ष्मी पटवा पुत्री पंचगुलाम पटवा ने तीन वर्ष पूर्व गांव निवासी कमलेश चौरसिया उर्फ गोलू के साथ प्रेम विवाह कर लिया था। युगल कुछ दिनों तक बाहर रहे। उसके बाद वह गांव वापस आ गए। इस दौरान एक पुत्र विवेक (11 माह) भी हो गया। प्रेम विवाह करने के बाद बहन का गांव में वापस भाई महेंद्र पटवा को नागवार गुजर रहा था। बहन भी अधिकांश समय घर में ही गुजारती रही।

शनिवार को घर से बाहर मंदिर पर हल षष्ठी माता की पूजा अर्चना के लिए निकली बहन लक्ष्मी को देख आरोपित आग बबूला हो गया। वापस लौटने के दौरान त्रिशूल से हमला कर दिया।

 

(791)

Leave a Reply


error: Content is protected !!