कपिलवस्तु पोस्ट की आशंका सही, आखिर लंबी रकम के बदले पुलिस ने बालू मफियाओं को छोड़ ही दिया

January 8, 2018 6:25 pm0 commentsViews: 183
Share news

अमित श्रीवास्तव

मिश्रौलिया, सिद्धार्थनगर।  आखिर मिश्रौलिया पुलिस द्धारा  अवैध बालू खनन में पकडं गये  ट्रैक्टर ट्रालियों को लावारिस बता कर उनका चालान कर दिया।  लेकिन ट्रैक्टरों  के साथ तीन पकड़े गये लोग और साथ में बरामद हुई बुलेट बाइक कहां चली गई, यह अहम सवाल बना हुआ है। मतलब साफ है कि मिश्रौलिया पुलिस ने बालू माफियाओं से  समझाैता कर लिया। कपिलवस्तु पोस्ट ने पहले ही इसकी आशंका व्यक्त कर दी थी कि जिले की पुलिस बालू माफिया  की दासी बनी हुइ है।

शनिवार वार की रात मिश्रौलिया  थाने के प्रभारी थानाध्यक्ष सुनील कुमार द्वारा थाना क्षेत्र के नवेल में खनन करती पकड़ी गयी दो ट्रैक्टर ट्राली को लावारिस दिखा  कर चालान कर देने के कारण पुलिस की ईमानदारी पर सवाल खड़ा हो गया है । विश्वस्त सूत्रो की मानें तो मिश्रौलिया पुलिस ने थाना क्षेत्र के नवेल गांव के पास अबैध तरीके से बालू खनन कर रहे दो ट्रैक्टर,एक मोटर साइकिल सहित तीन खनन माफियाओं को शनिवार की रात  पकड़ा। पकड़ने जाने की पुष्टि भी थाना परिसर में बालू लदे ट्रैक्टर ट्राली कर रहे है।

कपिलवस्तु पोस्ट ने इसकी खबर देते हुए बताया था कि वहां पुलिस और बालू मफियाओं के बीच समझाैते की बात चल रही हैं। अंत में  वही हुआ। पुलिस ने पकड़े गये तीनों बालू मफियाओं व उनकी मोटर साइकिल को छोड़ दिया और बाल भरे ट्रैक्टरा को लावारिस लिख कर  चालान कर दिया। सूत्र बताते हैं कि बालू मफिया को छोड़ने का यह सौदा भारी रकम की लेन देन के बाद ही हुआ।

इस बारे में जब रविवार को प्रभारी थानाध्यक्ष सुनील कुमार से बात की गयी तो उन्होंने  बताया कि वो डुमरियागंज के तरफ है अभी कुछ बता नहीं सकते।जानकारी के लिए सीओ इटवा के सीयूजी नंबर पर बात करने का प्रयास किया गया लेकिन बात नहीं हो पायी।वहीं आज प्रभारी थानाध्यक्ष ने बताया कि लावारिस हालत  दो ट्राली मय ट्रैक्टर पकड़ा गयी है  और कार्यवाही की गयी है।इस कार्यवाही से सवाल उठता है कि आखिर वो पकड़े गए खनन माफिया कहाँ गए वो मोटर साइकिल कहाँ गयी।ऐसे में पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल उठना भी लाजमी है।

(76)

Leave a Reply


error: Content is protected !!