क्या प्यार व जातीय गौरव को लेकर की गई हत्या का कारण है इटवा में मिला मानव कंकाल?

March 19, 2021 12:40 PM0 commentsViews: 887
Share news

नजीर मलिक

इटवा, सिद्धार्थनगर। इटवा थाना क्षेत्र के जगजीवनपुर गांव के पोखरे में बुधवार को पाये गये मानव कंकाल की चर्चा अभी थमी नहीं है। इटवा पुलिस ने कंकाल के परीक्षण के लिए पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है। यदि बरामद मानव कंकाल किसी महिला का साबित हुआ तो कुछ और भी भेद खुल सकते हैं। जानकारों के मुताबिक यह प्रेम संबंध के बीच जातीय गौरव को बचाने के लिए की गई हत्या यानी आनर किलिंग भी हो सकती है।

 

 

क्यों हो रहा आनर किलिंग का शक?

वास्तव में जगजीवनपुर में हडि्डयों का उक्त सांचा मिलने के बाद से ही रहस्यमय खामोशी छायी हुई है। यही खामोशी पुलिस व अन्य लोगों को खटक रही है। लोगों का कहना है कि गांवों में जहां छोटी छोटी बातें यहां तक की किसी जानवर के कंकाल पर चर्चा होती है, वहीं एक इंसानी हडि्डयों का समूचा ढांचा या कहें कंकाल पाये जाने पर गांव वालों की यह चुप्पी रहस्मय लगती है। हालत यह है कि कोई अनुमान तक लगाने को तैयार नहीं है। जबकि बरामद कंकाल भी ताजा लगता है। कुछ लोग कह रहे हैं कि पोस्टमार्टम में यदि कंकाल किसी युवती का निकलता है तो घटना का पर्दाफाश हो सकता है तथा आनर किलिंग का मामला तक सामने आ सकता है।

 

 

गायब युवती के परिजन क्यों हैं उदासीन?

 लोगों का कहना है कि क्षेत्र की एक युवती काफी दिन से गायब है। उसके गुमशुदगी की भी रिपोर्ट थाने में दर्ज है, फिर भी उस परिवार को बरामद कंकाल को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं। जबकि होना तो यह चाहिए था कि वह आगे आकर कंकाल की जांच की मांग उठाते। लोग चर्चा कर रहे हैं कि कहीं गांव के लोग उसकी प्रतिष्ठा व प्रभाव के कारण तो चुप नहीं हैं? खैर कंकाल युवक का है या युवती का, यह तो पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही पता चल सकेगा। याद रहे कि प्रेम संबंध में कई बार युवती के परिजनों को अपने जातीय गौरव के अहंकार के कारण लड़की की हत्या करते देखा गया है। इसे आनर किलिंग कहा जाता है। गायब हुई लड़की का भी किसी से प्रेम संबंध रहा बताया जाता है।

 

 

 क्या है पूरी कहानी का रहस्य व पेंच?

दरअसल बुधवार को जगजीवनपुर के लोग गांव के तालाब में मछली मारने के लिए पंपसेट से पानी निकाल रहे थे। पानी घटते ही ग्रामीणों को मानव शरीर की हडि्डयों का एक ढांचा दिखा। वह ताजा था। इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस जांच करने पहुंची। लेकिन कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है। इसके बाद पुलिस ने कंकाल को पोस्ट माटर्म के लिए भेज दिया है।

 

दूसरी तरफ गांव में एक कहानी भी छुपी हैं। उस गांव से एक युवती महीनों से गायब है। चर्चा है कि उसका किसी से प्रेम संबंध है। इसी करण वह एक बार पहले भी गायब हुई थी फिर लौट भी आई थी। लेकिन इस बार वह काफी दिनों से गयाब है। उसके परिजन इटवा थाने में उसकी गुमशुदगी की तहरीर दर्ज करा कर निश्चिंत हैं। लोगों का मानना है कि कहीं बरामद नरकंकाल उसी युवती का तो नहीं है। अब यह तो रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा। लेकिन कंकाल की बरामदगी ने पुलिस के समक्ष एक पहेली तो खड़ी ही कर दी है।

 

 

 

 

Leave a Reply