बच्चे बोले अम्मी ने बांध कर जलाया, आखिर एक मजबूर मां क्यों बन गई डायन?

May 15, 2017 4:44 pm0 commentsViews: 485
Share news

एम. आरिफ

333333333

सिद्धार्थनगर। पहले अम्मी ने हम भाई बहन को रस्सी से बांधा। फिर छोटे (आठ दिन का बच्चा) को भी चारपाई पर रखा। इसके बाद अम्मी ने अपने और हम सब के ऊपर मिट्टी तेल डाल कर आग लगा दी और हम सब जलते हुए चिल्लाने लगे। इतना कहने में जले हुए दोनों मासूम रोने लगे। शायद मां और भाई की मौत और जलने की पीड़ा इससे ज्यादा कुछ कहने की इजाजत ही नहीं देती थी।

यह बयान शनिवार की सुबह इटवा थाने के लटेरा गांव में जल कर घायल हुए दो बच्चों रुखसार व इरफान ने बस्ती अस्पताल में एसओ इटवा को दिया। इस घटना में बच्चों की मां २८ साल की अनवर जहां और उसके आठ दिन पूर्व जन्मे बच्चे की मौत हो गई थी। दोनों बच्चों की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। उनका दर्द देखा नहीं जा रहा है।

अनवर जहां ने क्यों लिया इतना बड़ा फैसला

इस कांड में सबसे खास सवाल है कि अनवर जहां ने क्यों लिया इतना बड़ा फैसला। अभी वह सौरगृह में थी। उसने आठ दिन पूर्व ही एक बेटे को जन्म दिया था। एक मां अगर अपने तीन बच्चों के साथ जान देने का फैसला कर ले तो जरूर कोई बड़ी वजह होगी। दुनियां की कोई भी मां सामान्य हालत में अपने जिगर के तीन टुकड़ों को सामान हालत में मारने का फैसला नही ले सकती है। लेकिन सवाल है कि आखिर इसकी वजह क्या है? पुलिस इसी बिंदु पर माथा पच्ची कर रही है।

हालांकि अनवर जहां के मायके वालों ने अनवर की सास, ससुर व देवर पर दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया है, लेकिन यह बात किसी को हजम नहीं हो रही। अनवर की शादी को ९ साल हो गये थे। इस दौरान ऐसी कोई शिकायत नही आई। फिर अचानक यह बात सामने आना समझ में नहीं आता। लटेरा गांव के लोग भी इससे सहमत नही होते।

घटना की खबर पाकर अनवर का पति सिद्ध उर्फ शकील भी मुम्बई से गांव आ गया है। वह भी घटना का कोई कारण पुलिस को बता पाने में असमर्थ है। वैसे भी अगर दहेज का मामला होता तो अनवर ऐसा आठ साल के बीच कभी भी आत्महत्या कर सकती थी, लेकिन उसने वह समय तब चुना जब वह आठ दिन पहले तीसरे बच्चे को जन्म दे चुकी थी। सौरगृह में रहने वाली महिलाएं निश्चित दिन तक कमरे से बाहर नहीं निकलतीं। लिहाजा उस दौरान किसी झगडे़ विवाद की संभावना न के बराबर होती है।

कोई बड़ी चोट साल रही थी अनवर को

गांव वाले कहते हैं कि अनवर जहां को लगता है कोई बड़ा गम सता रहा है। आखिर वह कौन सा गम हो सकता है, इसे कोई बता नहीं पा रहा है। हो सकता है कि ससुराल वाले कुद जानते हों, लेकिन वह भी इससे इंकार कर रहे हैं। पुलिस वाले भी कह रहे हैं कि उसके साथ जरू कुछ ऐसा हुआ जो वह बर्दाश्त नही कर पाई और एक मजबूर मां को बच्चों को खा जाने वाली डायन को रोल में आना पड़ा।

इस बारे में एसओ इटवा रणधीर कुमार का कहना है कि जांच चल रही है। जल्दी ही कुछ खुलासा होगा। उनका कहना है कि खुलासा जो भी होगा, वह चौकाने वाला होगा।

 

(3)

Leave a Reply


error: Content is protected !!