सदर में चौकोनी, बांसी व बढ़नी में तिकोनी, उस्का में सीधी और डुमरियागंज में बहुकोणीय लड़ाई के आसार

November 24, 2017 1:25 PM0 commentsViews: 116
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। बुद्ध की धरती पर युद्ध के बादल उमढ़ रहे हैं। जिले की 6 निकायों का चुनावी धुंधलका अब छंटने लगा है। नगरपालिका सिद्धार्थनगर में अध्यक्ष पद की लड़ाई चौकोनी हो गई है।  बांसी व बढ़नी  में तीन लोगों में तो उस्का बाजार   में सीधे संघर्ष के आसार हैं। इसके अलावा शोहरतगढ व डुमरियागंज में बहुकोणीय जंग तय हो गई है। सभी दलों के नेता जंग जीतने के लिए मैदान में पूरी ताकत से उतर आये हैं।

नगर पालिका सिद्धार्थनगर

जिला मुख्यालय की नगरपालिका से कुल १२ लोग उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनावी धुंधलका अब छंटने लगा है। गत चुनावों में दूसरे स्थान पर रहे  श्याम बिहारी जायसवाल इस बार भाजपा उम्मीदवार के रुप में मैदान में है। पिछली बार उन्होंने सपा नेता औार विजयी  उम्मीदवार जमील सिद्दीकी को कड़ी टक्कर दी थी।  उन्हीं के बराबर वोट पाने वाली महिला फौजिया आजाद  भी मुकाबले के लिए मैदान में हैं। सपा नेता और विजेता जमील सिद्दीकी के बजाय इस बार संजय कसौधन सपा के सिम्बल पर मैदान में हैं।

संजय कसौधन के मैदान में आने से भाजपा के पारम्परिक कसौधन वोट  में सपा ने बड़ी सेधमारी की है। श्यामबिहारी  इस क्षति को पूरा करने के लिए जुटे हैं। उनके मुकाबले में इस बार भी वुनाव लड़ रहे पूर्व अध्यक्ष और श्याम बिहारी के सगे भाई घनश्याम जसयसवाल भी मैदान में हैं। उनकी पकड पुरानी नौगड़ में बहुत अच्छी है। भाजपा के बागी भी खुल कर उनके साथ है। लिहाजा वह जंग में बराबर की टक्कर दे रहे हैं। कांग्रेस के उम्मीवार लड्उन भी लड़ाई को बहुकोणीय बनाने के प्रयास में लगे हैं। भाजपा की गणित मुस्लिम मतों के विभाजन पर टिकी हैं। अगर बिखराव हुआ तो भाजपा को लाभ तय है।

कुल मिला कर सदर निकाय में  अभी तक के जो हालात हैं, उससे चौकोनी लड़ाई के आसार दिख रहे हैं। कन्हैया वर्मा, फिरोज अहमद आदि इसे बहुकोणीयय बनाने के प्रयास में हैं, देखना है ऊंट किस करवट बैठता है।

बढनी में त्रिकोणीय लडाई

नेपाल सीमा से सटे बढ़नी नगर पालिका में इस बार रोचक संघर्ष देखने को मिल रहा है। वहां सपा, को सपा के बागी नेता और भाजपा उन्हें जबरदस्त टक्कर दे रहे हैं। गत चुनाव में सपा के रामनरेश नरेश को सपा के विद्रोही उम्मीदवार निसार बागी से कड़ी टक्कर मिली थी । वह लगभग ५० मतों से चुनाव हारे थे। बागी इस बार भी मैदान में हैं, अगर हालात तनिक भी बदले तो वहां का नतीजा चौंकाने वाला हो सकता है।

अन्य जगह भी कड़ा संघर्ष

नगर पंचायत उस्का बजार में भाजपा प्रत्याशी मंजू जायसवाल और सपा प्रत्याशी पुनीता यादव के बीच सीध्ण्धी संघर्ष है। हालांकि अध दर्जन से ज्यादा लोग मैदान में हैं, मगर संघर्ष सपा व भाजपा के बीच है। इसी प्रकार बांसा में सपा नेता पद्रीश पटवारी, निर्दल ध्रुव जायसवाल और भाजपा के अज्जू श्रीवास्तव के बीच कड़ा संघर्ष देखने को मिल रहा है। डुमरियागंज में भाजपा के मधुसूदन अग्रहरि, सपा के अतीकुर्रहमान, बसपा के जफर अहमद बब्बू, निर्दल अजय यादव व पीस पार्टी के रियाज अहमद के बीच तगड़ा मुकाबला है। यहां मुस्लिम मतों के बिखराव का फायदा भाजपा को मिल सकता है।

 

Leave a Reply