इटवा मर्डर मिस्ट्रीः कहीं आशनाई में तो नहीं गई आकिब की जान ?

January 2, 2017 6:38 pm0 commentsViews: 1260
Share news

एम. आरिफ

ffffff
इटवा, सिद्धार्थनगर। स्थानीय कस्बे से सटे पहाड़ापुर पोखरे के भीटे पर कल शाम को चाकूओं से गोद दिये आकिब नामक नौजवान की उसी रात अस्पताल में मौत हो गयी। पुलिस अब तक कत्ल के वजह नहीं तलाश पा रही है। लोग इसे आशनाई के मामले के रूप में देख रहे हैं, लेकिन पुलिस कुछ भी बता पाने में नाकाम है।

बताते हैं कि ग्राम चूही ग्रांट निवासी 19 वर्षीय आकिब अली मुम्बई रहता था। वह दो माह पहले गांव आया था। चर्चा है कि पहाड़ापुर (इटवा) की किसी युवती से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। कल शाम को वह अपनी बहन से मिलने आया था।

लोग बताते हैं कि वह दरअसल बहन से मिलने के नाम पर अपनी महबूबा से मिलने आया था। यह बात लड़की के घर वालों को पता चल गई और उन्होंने अपरान्ह 4 बजे गांव के बाहर पोखरे पर ही उसे रोक कर चाकुओं से गोद दिया और फरार हो गये।

आकिब पर जिस तरह से चाकुओं से तमाम वार किये गये थे। उसे देख कर यह साफ पता चल रहा था कि मारने वाले के मन में उसके प्रति काफी नफरत थी। पुलिस ने हलांकि घटना के बाद एक युवक को हिरासत में लिया और पूछ-ताछ की, मगर कोई नतीजा न निकला।

बताते चले कि आकिब पुत्र बादशाह अपने गांव चूही ग्रांट से कल अपनी बहन से मिलने पहाड़ापुर (इटवा) निकला था। अपरान्ह लगभग 4 बजे वह पहाड़ापुर गांव के पोखरे पर चाकुओं से गुदा हुआ पाया गया था। कल जिला अस्पताल में उसकी मौत हो गयी थी। सरेशाम हुई इस वारदात से इटवा में दहशत का माहौल है।

इस बारे में इटवा प्रभारी थानाध्यक्ष रामेश्वर यादव का कहना है कि पुलिस हत्यारे के बहुत करीब है। वह जल्द ही कातिल को पकड़ लेगी, मगर कत्ल की वजह नहीं बता पाने से उनके दावे पर सवाल उठ रहे हैं।

(32)

Leave a Reply


error: Content is protected !!