सिद्धार्थनगर स्पेशलः महबूबा ने डेढ़ लाख में बेच दी मुहब्बत और लौट गई राज्स्थान

May 15, 2017 1:08 PM0 commentsViews: 1541
Share news

अजीत सिंह

dancer

सिद्धार्थनगर । राजस्थान के कोटा जिले की मुस्कान बानों ने शोहरतगढ़ क्षेत्र के इटवा भाट गांव के मेराज से मुहब्बत ही नहीं की थी। जीने मरने की कसम के साथ एक बार घर से भागी भी थी। मगर हालात देखिए कि आखिर उसे अपनी मुहब्बत डेढ़ लाख में नीलाम कर वापस घर लौटना पड़ा।

मुस्कान और मेराज के बीच समझाैता कराते लोग

मुस्कान और मेराज के बीच समझाैता कराते लोग

बताया जाता है कि १४ मई को शोहरतगढ़ थाने के इटवा भाट गांव में कोटा (राजस्थान) की पुलिस देख गांव में हड़कंप मच गया। पुलिस मेराज के घर पहुंची थी। वह कोटा की मुस्कान नामक लड़की से पूर्व में ही मेराज की शादी की बात बात कह कर दूसरी शादी रोकने की बात कर रही थी। मेराज के परिजनों के हाथ पांप फूल गये। उन्होंने पुलिस टीम रुख देख बारात रवानगी रोक दी।

इसी दौरान घटना की सूचना पाकर शोहरतगढ़ पुलिस भी पहुंच गई। तमाम बहस मुबाहसे के बाद कोटा और मुकामी पुलिस के सामने पंचायत बैठी। आखिर में तय हुआ कि मेराज का परिवार मुस्कान के परिवार को डेढ़ लाख दे कर सुलह कर ले। मेराज के बाप ने मुस्कान के बाप पैसे अदा किये और फिर सुलहनामा बना। इसके बाद मेराज की बरात रवाना हुई और मुसकान की नाकाम मुहब्बत डेढ़ लेकर चल दी कोटा की ओर

क्या था मामला

इटवा भाट गांव के हनीफ का बेटा मेराज कोटा के किशोरपुरा में नौकरी करता था और वहीं आबिद के मकान में किराये पर रहता था। आबिद की १७ साल की बेटी मुस्कान बानों उससे घुल मिल गई थी, जा ओगे चल कर मुहब्बत में बदल गई। इश्क मुहब्बत की बात खुली तो आबिद को यह बात बुरी लगी और उसने दानों को खूब फटकार लगाई। अन्त में २६ अप्रैल को दोनों कोटा से भाग निकले।

बताया जाता है कि कोटा से मुस्कान को लेकर मेराज अपने गांव इटवा भाट आया वहां से वह मुस्कान को लेकर मुसकान को लेकर नेपाल स्थित अपने बहनोई के घर चला गया और दोनों ने कथित तौर पर शादी कर ली। इधर मुस्कान के बाप ने बेटी को भगा ले जाने की रिपोर्ट कोटा पुलिस थाने में दर्ज करा दी।

नेपाल में हुई दोनों की शादी

बताते हैं कि नेपाल में कुछ दिन गुजारने के बाद आबिद मुस्कान को लेकर वापस आया और उसे कोटा पहुंचने के लिए आगरा तक गया। वहां से उसे कोटा की ट्रेन में बैठाने के बाद शध आने की बात कह कर लौट आया। मुस्कान सकुशल घर पहुंच गई। घर वालों ने इसे किस्मत की बात समझा और शांत हो गये। इधर मुस्कान व मेराज दोनों की मोबाइल पर बातें होती रहीं। मेराज उसे जल्द आने का झांसा देता रहा।

इसी बीच मेराज ने एक दिन मुस्कान को फोन पर बताया कि उसकी १४ तारीख को शादी होने वाली है। अब वह उससे नही मिल पायेगा। इसके बाद उसने मोबाइल आफ कर लिया। इससे घबरा कर मुस्कान ने अपने घरवालों को पूरी बात बताई। परिजन कोटा पुलिस के पास गये। मुकदमा पहले ही दर्ज था। लिहाजा कोटा पुलिस १४ मई को मेराज के गांव आ धमकी।

Leave a Reply