खेल खेल में नदी में डूब गये तीन बच्चे, ग्रामीणों ने एक को बचाया, गांव में गम का माहौल

October 1, 2019 11:42 AM0 commentsViews: 850
Share news

नजीर मलिक

इटवा, सिद्धार्थनगर। बूढ़ी राप्ती के किनारे खेल खेल रहे तीन बच्चे खेल खेल में नदी में डूब गये जिनमें एक बच्चे की मौत हो गई, दूसरे की लाश नहीं मिली है, जबकि एक को बचा लिया गया है। घटना सोमवार की है। तीनों बच्चे इटवा थाना क्षे़त्र में बूढ़ी राप्ती नदी के किनारे बसे गांव पचपेड़वा के है।  इस घटना से गांव में कोहराम मचा हुआ है।  घटना की सूचना पाकर अफसर भी मौके पर पहुंचे और आवश्यक दिशा निर्देश दिये हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पचपेड़वा गांव के अली हुसेन का छः साल का बेटा इसरार,  सात साल की बेटी फातिमा व मेहदी हसन की बेटी रुखसार व अन्य कुछ बच्चे नदी के किनारे खेल रहे थे। इस दौरान वे खेल खेल में नदी में नहाने  चले गये और डूबने लगे। इसी के साथ उनके उूबने का शोर मचने लगा। लेकिन तब तक तीनों बच्चे तेज धारा में बहने लगे थे।

बताते है कि शोर सुन कर वहां मौके पर मौजूद कुछ ग्रामीण नदी में कूद गये। ग्रामीणों किसी प्रकार इसरार पुत्र अली हुसैन को बचा लिया, जबकि उसकी सात वर्षीया बहन फातिमा की खोज जारी है। तीसरी बच्ची रुखसार पुत्री मेंहदी हसन उम्र सात वर्ष की लाश पास के मोहचोरवा पुल के पास मिली है। ग्रामीणों के मुताबिक नदी में तेज बहाव के कारण बच्ची को खोजना काफी मुश्किल हो रहा था।

समाचार लिखे जाने तक रूखसार की तलाश जारी थी। ग्रामीणों का अनुमान है कि अब तक फातिमा भी लाश में तब्दील हो चुकी होगी और अब उसकी लाश ही खेजना शेष है। परिजनों के मुताबिक तीनों बच्चे लकड़ी खोजने कहकर घर से निकले थे और नदी में आकर नहाने लगे।

दुर्घटना के की खबर मिलने पर मौके पर इटवा तहसीलदार अरविन्द कुमार व ढ़ेबरुआ एसएचओ राजेन्द्र बहादुर सिंह मय पुलिस फोर्स पहुंच गये थे। इस संबंध में ढ़ेबरुआ के प्रभारी थाना निरीक्षक राजेन्द्र बहादुर सिंह ने कहा कि एक बच्ची की लाश मिल गयी है और एक बच्चे को बचा लिया गया है। जबकि उसकी बहन नहीं मिल रही है। तलाश जारी है।

Leave a Reply