नगरपालिका चुनाव में जिला मुख्यालय पर भाजपा से टिकट की डिमांड तेज, सपा पिछड़ी

October 9, 2022 2:16 PM0 commentsViews: 453
Share news

नगर पंचाायत इटवा, डमरियागंज, बढ़नी चाफा, बांसी व बढ़नी आदि क्षेत्रों में चुनावी हलचलें शबाब पर, जनसम्पर्क में दिखने लगे प्रत्यशी

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। स्थानीय निकायों के चुनाव को लेकर जिले मे चुनावी हलचलें बढ़ गई हैं। जिला मुख्यालय पर जहां भाजपा से टिकट मांगने वालों की संख्या में निरंतर इजाफा होता जा रहा है, वहीं इस बार सपा से टिकट चाहने वालों की हलचलें कम हैं। इसके अलावा इटवा, डमरियागंज, बढ़नी चाफा, बांसी व बढ़नी आदि दर्जन भर निकाय क्षेत्रों में भी चुनावी हलचलें शबाब पर हैं। इन सभी क्षेत्रों से चुनाव लड़ने के इच्छुक लोगों ने टिकट के जुगाड़ के साथ प्रचार भी शुरू कर दिया है।

बताया जाता है कि जिला मुख्यालय सिद्धार्थनगर की नगर पालिका से भाजपा से टिकट की डिमांउ बहुत बढ़ गई है। इस समय यहां से भाजपा से टिकट की दावेदारी में पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष एस.पी. अग्रवाल, राजू सिंह, राकेश दत्त त्रिपाठी, बबलू श्रीवास्तव व वर्तमान अध्यक्ष श्यामबिहारी जायसवाल के अलावा आधा दजन अन्य लोग शामिल हैं। होना तो यह चाहिए था कि वर्तमान अघ्यक्ष श्याम बिहारी जायसवाल की दावेदारी सबसे मजबूत होती मगर उनके खिलाफ भाजपा के कई नेता हैं। वह पार्टी की नजर में उतर चुके बताण् जाते हैं। हैं। ऐसे में उनकी पोजीशन कमजोर है। इसके बाद एसपी अग्रवाल, राजू सिंह व राकेश दत्त के बीच टिकट का मुख्य मुकाबला है। श्री अग्रवाल अपने राजनैतिक सम्पर्कों के कारण टिकट को लेकर बेहद आशान्वित हैं। परन्तु राजू सिंह और राकेशसिंह के भी अपने अपने पुरजोर दावे हैं।

नगरपालिका सिद्धार्थनगर

मजेदार तथ्य यह हैं कि पहले के चुनावों में सपा से टिकट मांगने वालों की लाइन लगी रहती थी। मगर इस बार सपा से कोई बड़ा नाम सामने नहीं है। सपा के दो युवा नेता राम सेवक लोघी और विजय चौधरी के नाम सामने आ रहे हैं।इनमें विजय का कोई जनाधार नहीं है। कुछ लोग पूर्व चेयरमैन जमील सिद्दीकी का नाम ले रहे हैं। परन्तु जानकार बताते है कि उनका मैदान में उतरना संभव नहीं है।

सूत्र यह भी बताते हैं कि दावेदारों में भाजपा के दो नेता ऐसे हैं जो भाजपा से टिकट कटने की आशंका होते ही सपा के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। इसके लिए वे अभी से सपा के सम्पर्क में हैं। इन नेताओं ने तो कपिलवस्तु पोस्ट से अनौपचारिक बातचीत में यह बात स्वीकार भी किया है। इसलिए माना जा रहा है कि इस बार सपा से टिकट मिलने की स्टोरी काफी दिलचस्प हो सकती है।

 नगर पालिका बांसी व इटवा

इसके अलावा नगरपालिका बांसी से वर्तमान सपा नेता और चेयरमैन इदरीस राइनी, नगर पंचायत इटवा से भाजपा के शिव कुमार वर्मा व कांग्रेस के नदिर सलाम आदि का प्रचार व जनसम्पर्क जोरों पर है। यहां से भाजपा नेता शिव कुमार वर्मा टिकट के प्रबल दोवेदार है। पार्टी उनकी सेवओं को जानती भी है। इसलिए उनके टिकट मिलने की पूरी संभावना है। जबकि नादिर सलाम का टिकट कांग्रेस से लगभग पक्का है। इटवा से सपा का टिकट उन्हीं को मिलेगा जिसे वरिष्ठ नेता माता प्रसाद चाहेंगे।

नगर पंचायत डुमरियागंज

डुमरियागंज से वर्तमान अध्यक्ष व सपा नेता जफर अहमद का जनसम्पर्क शुरू हो गया है। यहां से जबकि डुमरियागंज में सपा नेता और वर्तमान चेयरमैन जफर अहमद को टिकट के लिए सपा के ही अतीकुर्रहमान उन्हें कड़ी चुनौती पेश कर रहे हैं। जबकि भाजपा से कम से कम चार दोवेदार है।जिनमें मकसूदन अग्रहरि का टिकट लगभग पक्का बताया जा रहा है। वह जनसम्पर्क भी कर रहे हैं। यहां से श्याम सुंदर अग्रहरि भी चुनाव लड़ सकते हैं।

नगर पंचायत बढ़नी चाफा

डमरियागंज तहसील की नगर पंचायत बढ़नी चाफा में चुनावी तापमान गरमाता जा रहा है। यहां सपा से टिकट के कम से कम तीन दावेदार है।जिसमें इस्लाम अली का दावा सबसे मजबूत है। उनकाई हाजीचिनकन अली की साख भी काफी काम कर रही है। क्षेत्रीयविधायक भी उनकी करीबी मानी जा रही हैं। इन्होंने टिकट पक्का मान कर अपना जनसम्पर्क भी तेज कर दिया है। यहां कांग्रेस से भी पुराने नेता बब्बू जायसवाल उर्फ ब्ब्बू नेता का भी टिकट लगभग तय है। उनको भी चुनाव प्रचार शुरू है। भाजपा जरूर अब तक खामोश है। उसके कई दावेदारटिकट की आस में हैं। कुल मिला कर यहां का चुनावी माहौल बनने लगा है। हालंकि चुनाव नवम्बर के अतिम या दिसम्बर के पहले सप्ताह में होने की उम्मीद है।

 

 

 

Leave a Reply