मुआवजे को लेकर बिफरे किसान, सांसद के साथ डीएम को ज्ञापन, आंदोलन की चेतावनी

August 21, 2018 12:04 pm0 commentsViews: 496
Share news

 

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। राप्ती नहर परियोजना में मुआवजे में लेकर बेइमानी से सीमांत पट्टी के किसान बौखलाये हुए हैं। उन्होंने राज्यसभा सांसद और सपा नेता आलोक तिवारी के नेतृत्व में डीएम को ज्ञापन देकर न्याय की मांग की है। किसानों का कहना है कि अगर उनके मुआवज बनाने में गड़बड़ी न रोकी गई तो आंदोलन होगा।

बताया जाता है कि राप्ती नहर परियोजन शोहरतगढ, खंड 3 के तहत नहर का एक बड़ा भाग सदर तहसील के बर्डपुर विकास खंड में  बनना है। इसके लिए विभागीय कर्मी किसानों से तीन गुना मुआवजा पर हस्ताक्षर करा रहे हैं, जबकि परसपुर,रमवापुर,महदेवा कुर्मी, संग्रामपुर, नोनहवा, नरचहवा,  रसूलपुर, माल्हा, पिकौरा आदि गांवों के किसानों का कहना है कि उनके पड़ोसी जिलों में इसके लिए भूमि का चार गुना मुआवजा दिया जा रहा है।

 

सपा के नेता बताते हैं कि उनकी समस्याओं से राज्यसभा सदस्य व सपा नेता  आलोक तिवारी को अवगत कराया गया। सांसद  ने  कल  राकेश यादव, श्रीराम जायसवाल, गगन श्रीवास्तव, अफसर रिज़वी, गोमती,नीबर, आफत अली,रामकुमार,मजीद, रामसुभग, रामकृपाल के साथ डीएम को ज्ञापन देकर उचित मुआवजे की मांग की।

बाद में सपा नेता श्रीराम जयसवाल व राकेश याद  ने कहा कि विभाग को किसानों से सदे पेपर पर हस्ताक्षर कराना रोक कर मुआवजे की अधिकृत घोषणा की जानी चाहिए, वरना क्षेत्र के हजारों किसान विभाग का घेराव करने से नहीं हिचकेंगे।

 

 

(244)

Leave a Reply


error: Content is protected !!