नशे के सेवन से खोखला हो रहा समाज

February 13, 2016 4:24 PM0 commentsViews: 118
Share news

हमीद खान

is

इटवा। पार्टी , त्योहारों और महफिलों में जाम ना टकराये तो पार्टी अधूरी मानी जाती है। समारोह के पूर्व से लेकर समापन तक युवाओं से लेकर वृद्ध तक चार चांद लगाने की फिराक में विभिन्न प्रकार के नशे का सेवन कर रहे हैं। नशे ने इटवा तहसील क्षेत्र में फैशन का रुप धारण कर लिया हैं।

गौरतलब है कि शराब व गुटखा युवा वर्ग के साथ साथ किशोर भी बडे पैमाने पर आदी हो रहे हैं। वहीं युवतियां भी युवकों से पीछे नही हैं। वे भी बडे शौक से गुटखा का सेवन करती देखी जा सकती हैं। इन पदार्थों से क्षणिक मनोरंजन के बाद कई गंभीर बीमारियों को दावत देने के साथ पैसे की बर्बादी भी होती है।

वर्तमान में आलम यह है की बगैर नशे के कोई भी महफिल अधूरी समझी जाती है। आधुनिकता के इस दौड में युवा वर्ग आज नशे को नये फैशन के रुप में ले रहा है। गुटखा सेवन तो आम बात हो गयी है। शाम होते ही युवाओं होटलों आदि स्थानों पर युवाओं को शराब व धुम्रपान करते देखा जा सकता है। नशे के चक्कर में पडकर युवा जहां अपना भविष्य चौपट कर रहे हैं तो वहीं गंभीर बीमारियों को भी दावत दे रहे हैं। गुटखा का प्रचलन तो इतना अधिक हो गया है कि छोटे छोटे बच्चे भी बडे शौक से गुटखा का सेवन कर रहे हैं।

गौरतलब है की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने मन की बात कार्यक्रम से देश की जनता के साथ साथ युवा वर्ग को नशा त्यागने की अपील कर चुके हैं। उन्होंने युवा वर्ग को नसीहत देते हुए कहा था कि देश तुम्हारी आंखो से भविष्य की ओर देख रहा है यदि देश का युवा वर्ग नशे के सेवन के चलते खोखला हो गया तो मजबूत भारत का निर्माण का सपना कैसे पूरा होगा।

Leave a Reply