हाइवे निर्माण को लेकर किसान यूनियन ने जोगिया में घंटो लगाया जाम, कब तक चलेगा झूठ का राज

December 16, 2017 5:44 pm0 commentsViews: 349
Share news

नजीर मलिक

सिद्धार्थनगर। भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में जोगिया क्षेत्र की आस पास की जनता ने आज ब्लाक मुख्यालय जोगिया के पास नेशनल हाइवे पर जबरदस्त तरीके से लगाया। आंदोलनकारियों की मांग थी कि जब तक हाइवे निर्माण शुरू करने की घोषणा नही होती, आंदोलन जारी रहेगा। बाद में नेशनल हाइवे के जिम्मेदारों ने मौके पर पहूंच कर दो माह का समय मांग कर आंदोलन को समाप्त कराया। इस दौरान जाम में फंसे राहगीर परेशान रहे।

बताया जाता है कि आज सुबह 11 बजे किसान युनियन ने जोगिया में रास्ता जाम आंदोलन शुरु किया तो उसमें व्यापारी भी व्यापार मंडल के के नेतृत्व में शामिल हो गये। घंटो आंदोलन के कारण बांसी़-सिद्धार्थनगर मार्ग पूरी तरह ठप हो गया। हजारों वाहन सड़क पर खड़े हो गये। हर तरफ अफरा तफरी मच गई। आंदोलनकारी किसी ठोस निर्णय के बिना जाम समाप्त करने को तैयार न थे। हालात बिगड़ रहे थे। राहगीर परेशान थे।

हालत नाजुक होने पर मौके पर पहुचे तहसीलदार नौगढ़ एवम एन एच को निर्माण करने वाली इकाई के प्रोजेक्ट मैनेजर से वार्ता शुरू हुई। अंत में प्रोजेक्ट मैनेजर ने वादा किया कि वे टूटी सड़क को दो महीने में एनएच में बदल देंगे। इस आश्वासन के बाद जाम समाप्त होने का फैसला किया गया।

इस मौके पर जनता को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन के वरिष्ठ नेता इंद्रजीत द्विवेदी  ने कहा कि  मार्ग को तोड़ देने के बाद उसका निर्माण न करतने से राहगीर परेशान है। आये दिप लोग एक्सीडेंट में मर रहे हैं। सड़क  पर उड़ती धूल की वजह से व्यापारियों का धंधा तबाह हो रहा है।
रास्ता जाम में कन्हैया जायसवाल, रजनीश मिश्रा, सलीम, नरेश यादव, योगेश यादव, राजाराम यादव, नरेश साहनी, राजन विश्वकर्मा, रवि जायसवाल, मनीष मिश्रा, ओम प्रकाश जायवाल राम जियावन शर्मा आदि उपस्थित रहे ।

बताते चले कि गत पखवारे  जोगिया पुलिस ने नेशनल हाइवे को हिरासत में लिया था। तब भी उन्होंने मार्ग निमार्ण की बात कही थी। लेकिन पिछले 2 सालों में दुर्घटना में दर्जनों लोंगों के मरने के बाद भी हालात में सुधार नही हुआ। अब देखना है कि इसके बाद क्या प्रगति होती है।  वैसे मुख्यमंत्री योगी ने तो प्रदेश की सड़कों को बहुत पहलें ही गडढा मुक्त होने का एलान कर दिया है।

 

 

(189)

Leave a Reply


error: Content is protected !!