शफीक का टिकट कटने पर सपा में बगावत, विरोध के बीच सीएम से मिलने लखनऊ गया दल

January 24, 2016 8:00 am0 commentsViews: 832
Share news

नजीर मलिक

बगावत के तेवर–सपा नेता वसीम अहमद

बगावत के तेवर–सपा नेता वसीम अहमद

सिद्धार्थनगर। सदर ब्लाक से प्रमुख पद के मज़बूत दावेदार शफीक अहमद का टिकट कटने पर समाजवादी पार्टी की स्थानीय यूनिट में बग़ावत शुरू हो गई है। पार्टी के फ़ैसले के ख़िलाफ़ पूर्व जिलाध्यक्ष रामचंद्र यादव ने मोर्चा खोल दिया है। बागी स्थानीय नेताओं का एक दल सीएम अखिलेश यादव से मिलने राजधानी लखनऊ रवाना हो गया है।

लोहिया वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष रहे वसीम अहमद के मुताबिक स्थानीय यूनिट ने शफीक अहमद के साथ नाइंसाफी की है। शफीक अहमद मज़बूत दावेदार होने के साथ-साथ सपा नेता व नगर पालिका चेयरमैन जमील सिद्दीकी के बड़े भाई हैं।

वसीम का कहना है कि जमील सिद्दीकी 1996 से अब तक पार्टी से जुड़े हुए हैं। राजनीति में दल बदलने का बुरा चलन आने के बावजूद उन्होंने कभी भी समाजवादी पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया। इसके बावजूद एक गैर सपाई को टिकट देकर पार्टी ने कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ा है। वसीम का आरोप है कि इस साज़िश में दो मुकामी नेताओं का हाथ है।

समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष राम चन्द्र यादव ने भी इस फैसले का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि उन जैसे तमाम सपाई चुनाव में शफीक अहमद को ही असली प्रत्याशी मान कर उनका समर्थन करेंगे।

वहीं पार्टी के अन्य सदस्यों का आरोप है कि साजिश के पीछे विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष जोखन चौधरी हैं, जिन्होंने फर्जी तरीके से सदस्य बना कर संजू सिंह के लिए दावेदारी की राह खोली।

हालांकि जोखन चौधरी का कहना है कि उनका काम पार्टी को मजबूत बनाना है। सदस्यता अभियान के समय जिसने पार्टी का सदस्य बनना चाहा, उसे सदस्यता दी गई। इसमें कुछ भी गलत नहीं हैं

खबर है कि इस घटना से आहत कई सपाई और बीडीसी सदस्यों का एक दल लखनऊ रवाना हो गया है। वह आज शाम सीएम से मुलाकात कर अपनी बात रखेगा।

बहरहाल इस घटना क्रम के बाद सदर ब्लाक की प्रमुख पद की लड़ाई में शफीक अहमद के भाग लेने के आसार बढ़ गये हैं। आगे क्या होता है, यह देखना दिलचस्प होगा।

(10)

Leave a Reply


error: Content is protected !!