नेपाल बार्डर पर नेकी की दीवार बनी, गैरजरूरी सामान दीवार पर टांगिए और पुण्य कमाइए

December 10, 2019 12:29 pm0 commentsViews: 1124
Share news

सग़ीर ए ख़ाकसार

बढ़नी, सिद्धार्थनगर। अंतर्राष्ट्रीय बार्डर पर आम तौर से दीवार या कंटीले तार होने की खबर तो मिलती है। मगर भारत–नेपाल सीमा के बढ़नी (सिद्धार्थनगर) बार्डर पर नेकी की दीवार खड़ी कर दी गई है। इस दीवार का मकसद बार्डर के दोनों ओर के कस्बों के गरीबों की निःशुल्क मदद करना है। दोनों देशों के सीमाई लोगों की मदद के लिए शुरू की गई की मुहिम की चारों ओर प्रशंसा की जा रही है। गरीब तबके के लोग इस दीवार के सामने खड़े होकर लोगों को जरूरत का हर सामान मृफ्त ले कर दुआएं दे रहे हैं।

बताया लाता है कि पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के झंडानगर के कुछ उत्साही युवाओं ने ज़रूरतमंद लोगों की मदद के मकसद से यह “नेकी की दीवार”खड़ी की है। इस दीवार पर टंगी वस्तु में से हर जरुरतमंद अपनी जरूरत का सामान मुफ्त में ले सकते हैं। यह दीवार भारत नेपाल बार्डर से कुछ कदम अंदर कृष्णानगर (नेपाल) में बनाई गई है। इसका स्लोगन  है “अगर आपके पास अधिक है तो यहां रख दीजिए और अगर आपके नही है तो यहां से लीजिये”।  नेकी की दीवार खड़ी करने का मकसद गरीबों की मदद करना है। इसमें भारत और नेपाल दोनों क्षेत्रों के लोग अपने अनुपयोगी सामान पहुंचा रहे हैं। दीवार पर न टांगे जा सकने वाले सामानों को वहीं पास में जमा किया जा रहा है।

दो दिन पूर्व शुरू की गई इस मुहिम में लोगों ने दिल खोलकर सहयोग देना शुरू कर दिया है। अगर आप के पास  पहनने वाले कपड़े, घरेलू सामान,किताब, कॉपी, स्कूल बैग व अन्य वस्तुएं जो उपभोग से अधिक हैं तो इस नेकी की दीवार पर टांग सकते है और यह सब चीजें अगर आपके पास नहीं है तो यहां से ले सकते हैं।यह नेकी की दीवार नेपाल बॉर्डर से सटे झंडानगर के सिराजूल उलूम गली में धर्मशाले के पीछे खड़ी की गयी है। इसे शुरू करने वालों युवाओं की चहुं ओर प्रशंसा हो रही है।

नगर के लोग खूब सहयोग भी कर रहे हैं और ज़रूरत मन्द लोगों को इसका लाभ भी मिल रहा है।नेकी की दीवार खड़ी करने में मुहम्मद समीर,अनीस ज़ैदी,युसुफ वज़ीर मास्टर,वकील अहमद आदि युवओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।

(606)

Leave a Reply


error: Content is protected !!